विकास शर्मा, चंडीगढ़ : चंडीगढ़ रोइंग एसोसिएशन की मान्यता देने के मामले में अब इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ने रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया को जवाब तलब किया है। गौरतलब है कि चंडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन (सीओए) रोइंग एंड स्वीप एसोसिएशन चंडीगढ़ को मान्यता देता है, जबकि रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (आरएफआइ) चंडीगढ़ रोइंग एसोसिएशन को मान्यता देता है। ऐसे में रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की अध्यक्ष प्रेसिडेंट राजलक्ष्मी सिंह की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए ओलंपिक एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने चडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन पर इस बाबत अपना रूख स्पष्ट करने के आदेश दिए थे। सीओए ने बताया कि चंडीगढ़ रोइंग एसोसिएशन की तरफ से 11 जुलाई 2018 को जो चुनाव करवाए जाने की बात कही जा रही है, उसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उधर दूसरी तरफ ओलंपिक एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट डॉ. नरेंद्र ध्रुव बतरा ने आरएफआइ की प्रेसिडेंट से पूछा जब सीओए रोइंग एंड स्वीप एसोसिएशन चंडीगढ़ को मान्यता देता है तो दिक्कत कहां है। चंडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी महासिंह सिंह ने बताया कि हमारा मकसद खेलों को प्रमोट करना है। चंडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन उसी एसोसिएशन को प्रमोट करेगी, जो इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन के संविधान के मुताबिक गठित हुई है। ऐसे में यह विवाद समझ से परे है। 2017 में रद की थी मान्यता

रोइंग एंड स्वीप एसोसिएशन के सेक्रेटरी शुभजोत सिंह ने बताया कि यह विवाद सिर्फ रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के होने वाले चुनाव के मद्देनजर हो रहा है। जबकि इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन के संविधान (31.2) के मुताबकि नेशनल स्पो‌र्ट्स एसोसिएशन उसी एसोसिएशन को मान्यता दे सकती है, जिससे स्टेट एसोसिएशन से मान्यता प्राप्त हो। इससे पहले साल 2009-10 के बाद चंडीगढ़ रोइंग एसोसिएशन के चुनाव नहीं हुए, जिसके बाद साल 2017 में चंडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन ने इसकी मान्यता रद कर दी थी। इसके बाद रोइंग एंड स्वीप एसोसिएशन बनी, जिसने चंडीगढ़ ओलंपिक एसोसिएशन की टेक्निकल कमेटी के सामने मान्यता के लिए आवेदन किया। इस एसोसिएशन को 15 अगस्त 2018 को मान्यता दे दी गई और इस बात की जानकारी रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया को लिखित में दे दी गई थी, अब यह विवाद समझ से परे है। वहीं चंडीगढ़ रोइंग एसोसिएशन के पदाधिकारी का कहना है कि वह रोइंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ मिलकर खेल को प्रमोट करने के लिए सालों से काम कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!