मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी के विधायक एचएस फूलका ने अमृतसर आतंकी हमले को लेकर विवादित और बेहद अटपटा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा, ' हो सकता है कि अपनी बात को सही साबित करने के लिए सेना अध्यक्ष ने ही हमला करवाया हो।' इसके बाद फूलका विभिन्‍न राजनीतिक दलाें के निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस सहित कई दलों के नेताओं ने फूलका के बयान की निंदा की है। बाद में विवाद बढ़ने पर फूलका ने अपनी सफाई दी और कहा कि बयान का गलत अर्थ निकाला गया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि फूलका से सेनाध्यक्ष के बारे में ऐसे गैरजिम्मेदाराना बयान की उम्मीद नहीं की जाती। वहीं, कांग्रेस विधायक डॉ. राजकुमार वेरका ने फूलका के खिलाफ थाने में शिकायत दी है। कहा कि फूलका के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जाए।

कहा- कांग्रेस ने करवाया मौड़ मंडी ब्लास्ट, राम रहीम न करवाई बेअदबी

गौरतलब है कि सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने कुछ दिन पहले कहा था कि बाहरी ताकतें पंजाब में फिर से उग्रवाद को जिंदा करने की कोशिश कर रही हैं। जल्द ही कोई कार्रवाई नहीं की गई तो बहुत देर हो जाएगी। इस पर मीडियाकर्मियों के फूलका से सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, 'सेना अध्यक्ष ने कुछ दिन पहले यह बयान दिया था। हो सकता है उन्होंने अपने बयान को सही साबित करने के लिए खुद ही करवा दिया हो।'

उन्होंने कहा, 'सरकारें पहले भी अपने कारिंदों से ऐसे काम करवाती रहीं हैं और कहती हैं कि माहौल खराब हो रहा है। माहौल खराब है का शोर मचा दो और चुनाव में फायदा लो। हमें चौकन्ना रहने की जरूरत है। हमें देखना चाहिए कि कौन माहौल खराब कर रहा है। मौड़ मंडी ब्लास्ट कांग्रेस ने करवाया था। बेअदबी की घटनाएं राम रहीम ने करवाईं। बरगाड़ी मामले में भी सरकार का हाथ था।'

उनके इस बयान की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही है। हालांकि, पार्टी ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं की है। वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने आप विधायक एचएस फूलका के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा कि सेना को राजनीति में नहीं घसीटा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमृतसर में हुए बम धमाका एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है। इस गंभीर मुद्दे पर इस तरह की राजनीति से बचना चाहिए। क्योंकि राजनीति करने के लिए और भी कई मंच मौजूद है।

उन्होंने कहा कि यह निंदनीय है कि फूलका कहते हैं कि सेना प्रमुख के बयान के आड़ में सरकार ने बम धमाका करवाया। जाखड़ ने कहा कि एक वरिष्ठ वकील और सुलझे हुए नेता से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं की जा सकती है। क्योंकि फूलका को यह पता होना चाहिए वह क्या कह रहे हैं और कौन से समय पर कह रहे हैं। क्योंकि यह कोई आम बम धमाका नहीं है। यह पंजाब की शांति को भंग करने की साजिश है। अन्‍य दलाें के नेताओं ने भी फूलका के बयान की कड़ी निंदा की है।

डॉ. वेरका ने कहा- फूलका के खिलाफ एफआरआइ दर्ज किया जाए 

कांग्रेस के वरिष्‍ठ विधायक डॉ. राजकुमार वेरका ने पूरे मामले में आम अादमी पार्टी अौर आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधा है। डॉ. वेरका ने पूछा, आ‍खिर एसएस फूलका ने किसके निर्देश पर इस तरह का बयान दिया? क्‍या अरविंद केजरीवाल इस पर जवाब देंगे और क्‍या वह इस बयान से सहमत हैं? डॉ. वेरका ने कहा कि सेना के बारे में इस तरह की बातों को कोई भारतीय सहन नहीं कर सकता। इसके लिए फूलका के खिलाफ एफआरअाइ दर्ज किया जाना चाहिए।

अब फूलका ने जताया खेद

खुद के निशाना बनने के बाद फूलका ने पूरे मामले पर सफाई दी। उन्‍होंने कहा, मेरे बयान काे पूरी तरह गलत समझा गया है। कृपया पूरे वीडियाे का देखें। मेरा पूरा बयान वास्‍तव में कांग्रेस के खिलाफ है और यह सम्‍मानित सेना प्रमुख के खिलाफ नहीं है। फिर भी यह बयान उचित नहीं था और इसके लिए मुझे खेद है।

संजय सिंह ने फूलका का किया बचाव

दूसरी ओर, फूलका के बयान पर आप के वरिष्‍ठ नेता संजय सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। संजय सिंह सोमवार को फूलका का बचाव किया। संजय सिंह ने कहा कि लापरवाही से दिए गए एक बयान के लिए उनको बदनाम नहीं किया जाना चाहिए। उन्‍होंने बयान के लिए माफी मांग ली है और इसके बाद फूलका को निशाना बनाना बंद कर देना चाहिए। फूलका 35 साल से 1984 के दंगा पी‍डि़तों को न्‍याय दिलाने की कोशिश में जुटे हैं और इसके लिए उनकी कद्र की जानी चाहिए।


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!