चंडीगढ़, जेएनएन। विश्व मानव रूहानी केंद्र की ओर से पीजीआई चंडीगढ़ को करोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए पीजीआई डायरेक्टर प्रोफेसर जगतराम को 1500 पीपीई किट, दो वेंटिलेटर और 300 किलो स्किम्ड मिल्क पाउडर दिया गया। विश्व मानव रूहानी केंद्र नवानगर पंचकूला की ओर से वीरवार को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पीजीआई चंडीगढ़ को यह सामग्री उपलब्ध करवाई गई। संस्थान की ओर से पीजीआई चंडीगढ़ को जो सामग्री उपलब्ध कराई गई है, वह कुल 45 लाख रुपये की थी।  

विश्व मानव रूहानी केंद्र ने पेश की मिसालः पीजीआई डायरेक्टर

पीजीआई के डायरेक्टर प्रोफेसर जगतराम ने विश्व मानव रूहानी केंद्र के इस कदम की जमकर सराहना की है। उन्होंने कहा कि देश इस समय मुश्किल हालातों से गुजर रहा है और हमें एक दूसरे की मदद के लिए आगे आना चाहिए। विश्व मानव रूहानी केंद्र ने लोंगों के सामने एक मिसाल पेश की है। उन्होंने अन्य संगठनों व शहर की जानी-मानी हस्तियों से मदद की अपील की। 

लोगों का जीवन बचाने के लिए इस तरह के कदम जरूरीः डीडीए

डीडीए कुमार गौरव धवन ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया कोरोना संकट से दो चार हो रही है। ऐसे में कई बड़ी हस्तियां व संगठन बेझिझक मदद के लिए आगे आए हैं। विश्व मानव रूहानी केंद्र ने सराहनीय कदम उठाया है, जो लोगों का जीवन बचाने में कारगर साबित होने वाला है। कोरोना जैसी महामारी से उबरने के लिए इस तरह की मदद बेहद जरूरी है और जो लोग ऐसा कर सकते हैं उन्हें आगे आना होगा।

इस अवसर पर डॉक्टर वरिंदर गर्ग ओएसडी हेल्थ मिनिस्टर और सहकार भारती के राष्ट्रीय मंत्री देवेंदर सिंह ने विशेष रूप से विश्व मानव रूहानी केंद्र के इस नेक कदम की सराहना की। वहीं फाइनेंशियल एडवाइजर कुमार अभय, मेडिकल सुपरिटेंडेंट विपिन, प्रोफेसर अरुणलोक चक्रवर्ती, एडिशनल मेडिकल सुपरिंटेंडेंट प्रोफेसर अशोक कुमार ने भी विश्व मानव रूहानी केंद्र संस्थान इस सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया।

Posted By: Vikas_Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!