राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। शरारती तत्वों द्वारा तुर्की में 2020 में बना दूध से नहाने वाले वीडियो को वेरका का बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। इस वीडियो को सहकारिता मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने गंभीरता से लिया है।

उन्होंने कहा कि पंजाब मिल्कफैड द्वारा सूचना प्रौद्यौगिकी अधिनियम, 2000 के अंतर्गत पंजाब पुलिस के साईबर सैल के पास शिकायत दर्ज करवाई गई है, जिससे समाज के बेईमान और गैर-जि़म्मेदार तत्वों के विरुद्ध अपेक्षित कानूनी कार्रवाई की जा सके।

बता दें कि इंटरनेट मीडिया पर दूध के साथ नहाते हुए व्यक्ति की तुर्की में बनी एक पुरानी वीडियो असामाजिक तत्वों द्वारा वेरका से संबंधित बताकर वायरल की जा रही है, जिससे डेयरी उद्योग में वेरका की प्रतिष्ठा और इसके सहकारी ब्रांड के साफ़ अक्स को बदनाम किया जा सके।

वित्त और सहकारिता मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि वायरल वीडियो की तस्वीर स्पष्ट तौर पर दिखाती है कि यह भद्दी हरकत वेरका ब्रांड की प्रसिद्धि को खऱाब करने के इरादे से की गई है। उन्होंने कहा कि पुुलिस द्वारा दोषियों की खोज करने के बाद सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

उन्होंने लोगों से अपील की कि जिस भी इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म पर यह वीडियो चलाई जा रही हो, वहां से पोस्ट को तुरंत हटाया जाएं, क्योंकि यह किसी तरह भी वेरका से संबंधित नहीं है। साईबर सैल के पास शिकायत दर्ज करवाने वाले मिल्कफैड के मैनेजिंग डायरेक्टर कमलदीप सिंह संघा ने बताया कि मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक यह वीडियो लगभग दो साल पुुरानी है और इस वीडियो का वेरका से कोई संबंध नहीं है।

मीडिया में साल 2020 के नवंबर महीने में छपी खबरों के मुताबिक यह वीडियो तुुर्की के सेंट्रल एनाटोलियन राज्य के कोनिआ नामक कस्बे में फिल्माई गई है। दूध के टैंक में जो आदमी नहाता दिखाई दे रहा है उसका नाम ऐमरे स्यार है। उक्त वीडियो टिकटॉक के द्वारा तुुर्की के निवासी उगुर तुर्गुत द्वारा अपलोड किए जाने का विवरण है और दोनों को तुुर्की सरकार ने गिरफ्तार कर लिया था।

Edited By: Kamlesh Bhatt