जेएनएन, मोहाली। खरड़ सिटी पुलिस ने एक ऐसे गिरोह की युुुुुवती को गिरफ्तार किया है, जो कि ओएलएक्स व अखबार में नौकरी की विज्ञापन पढ़कर पहले वहां नौकरी लगती और बाद में बहाने से नौकरी छोड़कर मालिक को अपनी गैंग के सदस्यों के साथ मिलकर दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर फिरौती मांगती थी।

मामले में सबसे अहम बात यह थी कि युवती जिन व्यक्तियों को ब्लैकमेल करने के लिए साथ लेकर जाती, वह खुद को खरड़ सिटी थाने का एएसआइ, डीएसपी का भाई व महिला का भाई कहकर धमकाते थे और मामले को रफा-दफा करने के लिए उससे मोटी रकम ऐंठते थे। गिरफ्तार हुई युवती की पहचान राजविंदर कौर निवासी फाजिल्का के तौर पर हुई है, जो कि यहां मौलीवैदवान गांव में रहती थी।

खरड़ सिटी पुलिस ने इस मामले में राजविंदर कौर व चार अज्ञात साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपित राजविंदर कौर को कोर्ट में पेश किया गया जहां अदालत ने उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है, जबकि उसके अन्य साथियों की तालाश की जा रही है।

राजकुमार निवासी जनता कॉलोनी नयागांव ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि उसने अपने गेस्ट हाउस के लिए रिसेप्शनिस्ट का इश्तेहार ओएलएक्स पर दिया था। जिसे देखकर उक्त गिरोह की सदस्य राजिंदर कौर अपनी साथी ऊषा रानी को साथ लेकर उसके पास आई, जिन्हेंं उन्होंने नौकरी पर रख लिया, लेकिन तीन दिन बाद दोनों ने अपनी मर्जी से काम छोड़ दिया और बाद में तीन व्यक्तियों के साथ उसके गेस्ट हाउस आई। उसके साथ आए एक व्यक्ति ने कहा कि वह सिटी खरड़ थाने का एएसआइ है, जबकि दूसरे ने कहा कि वह डीएसपी का भाई है, तीसरे कहा कि वह महिला का भाई है।

उन्होंने कहा कि उसके खिलाफ महिला ने सिटी खरड़ थाने में दुष्कर्म की शिकायत दी है। अगर बात एसएचओ भगवंत सिंह तक पहुंच गई तो मामला दर्ज होगा। मामला यहीं रफा-दफा करने के लिए उससे 30 हजार रुपये ले लिए और बाद में पांच लाख रुपये की मांग करने लगे। राजकुमार की शिकायत पर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। महिला ने पूछताछ में यह भी बताया कि उन्होंने खरड़ में एक फिजियोथैरेेपी डॉक्टर को भी इसी तरह ब्लैकमेल कर 70 हजार रुपये ठगे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!