जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीनेशन ही सबसे बड़ा हथियार है। इसके खिलाफ चल रही इस जंग में पिछड़ जाएंगे अगर वैक्सीनेशन के प्रति उत्साह कम हुआ। रविवार का दिन इस अभियान के लिए काफी रुखा रहा। अन्य दिनों के मुकाबले रविवार को वैक्सीनेशन के लिए लोगों में उत्साह कम देखने को मिला। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से छुट्टी वाले दिन भी वैक्सीनेशन अभियान को जारी रखा है और सभी टीकाकरण केंद्रों में सामान्य दिनों की तरह ही वैक्सीनेशन किया जाता है।

रविवार को कुल 5985 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगी। जबकि रोजाना आठ हजार के करीब वैक्सीनेशन होती रही है। पिछले सात दिनों का औसत देखें तो रोजाना 9111 को वैक्सीनेशन की डोज लगी। 18-44 आयु वर्ग में सबसे अधिक 3276 लोगों को पहली डोज लगी। वहीं 45 से 60 आयु वर्ग में 942 को दूसरी और 500 को पहली डोज लगी। अभी तक चंडीगढ़ में कुल आठ लाख 44 हजार 191 डोज लगी चुकी हैं। 97 फीसद हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण हो चुका है। इससे पहले रोजाना नौ हजार के करीब वैक्सीन लगती रही हैं। जिन्हें वैक्सीन की डोज नहीं लगी है उन्हें तुरंत इसे लगवाना चाहिए। ऐसा न हो कि कहीं तीसरी लहर आ जाए और ऐसे लाेग सबसे अधिक चपेट में आएं।

केस कम होने से राहत

कोरोना के सक्रिय मामले केवल 30 रह गए हैं। रविवार को मात्र एक संक्रमित केस सेक्टर-27 में सामने आया। जबकि दो ठीक होकर आइसोलेशन से बाहर आए। अच्छी बात यह है कि कोई मौत नहीं हुई। पिछले सात दिनों में औसतन तीन संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिससे पॉजिटिविटी रेट कम होकर 0.23 फीसद हो गया है। यह दर लगातार कम हो रही है। रविवार की बात करें तो यह केवल 0.07 फीसद रही। 24 घंटे में 1357 सैंपल टेस्ट किए गए हैं। अभी पांच सैंपल ऐसे हैं जिनकी रिपोर्ट आनी बाकी है। इनकी रिपोर्ट सोमवार को आएगी।

Edited By: Ankesh Thakur