विशाल पाठक, चंडीगढ़ : सेक्टर-32 के जिस पीजी में आग लगी थी। उस पीजी के संचालक नीतेश बंसल के शहर में और दो पेइंग गेस्ट चल रहे थे। इन दोनों पीजी की प्रॉपर्टी पर एस्टेट ऑफिस के एनफोर्समेंट विग ने सोमवार को चेकिग की। इन दोनों पेइंग गेस्ट में मिसयूज और बिल्डिंग वॉयलेशन पाई गई। इस पर एस्टेट ऑफिस की टीम ने इन दोनों पेइंग गेस्ट प्रॉपर्टी पर बिल्डिंग वॉयलेशन और गैर कानूनी ढंग से चलाने को लेकर नोटिस चस्पा कर दिया है। यह नोटिस प्रॉपर्टी ऑनर और पीजी संचालक नीतेश बंसल के नाम पर दिया गया है। सेक्टर-32डी के मकान नंबर-3325 में चल रहे जिस पीजी में आग लगी थी। इस पीजी के संचालक नीतेश बंसल के शहर में दो और पीजी चल रहे थे। एस्टेट ऑफिस के मुताबिक पीजी संचालक नीतेश बंसल की गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ के दौरान यह खुलासा हुआ। 50 लोगों को बना रखा था पेइंग गेस्ट

एईओ मनीष लोहान ने बताया कि पीजी संचालक नीतेश बंसल के शहर में चल रहे दो अवैध पीजी पर कार्रवाई की गई है। सेक्टर-32डी स्थित मकान नंबर-3370 और सेक्टर-34सी के मकान नंबर-1207 में चल रहे पीजी को भी आरोपित नीतेश बंसल ही चला रहा था। इन दोनों मकान में भी नीतेश बंसल ने करीब 50 लोगों को बतौर पेइंग गेस्ट रखा है। दोनों पीजी भी रजिस्टर्ड नहीं है। मिसयूज और बिल्डिंग वॉयलेशन है। यहां एक भी फायर सेफ्टी नॉ‌र्म्स नहीं पाए गए। एस्टेट ऑफिस ने सेक्टर-32डी स्थित मकान नंबर-3370 और सेक्टर-34सी के मकान नंबर-1207 में चल रहे पीजी संचालक नीतेश बंसल के अलावा प्रॉपर्टी मालिक को भी नोटिस दिया है। एक हफ्ते के अंदर रिप्लाई फाइल करने के लिए कहा है। अगर प्रॉपर्टी मालिक नोटिस का जवाब नहीं देता है तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। दो आरोपितों की पुलिस कर रही तलाश

सेक्टर-32 डी के मकान नंबर-3325 में चल रहे जिस पीजी में आग लगी थी। पुलिस इस पीजी के दूसरे संचालक नीतेश पोपली और प्रॉपर्टी के मालिक गौरव तनेजा की तलाश कर रही है। इस मामले में अभी तक एक ही पीजी संचालक नीतेश बंसल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!