कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। विदेशों में रहने वाले रिश्तेदार और पारिवारिक सदस्य बनकर मदद के बहाने ठगी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को साइबर पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान यूपी के बिजनौर स्थित नगीना निवासी अभिषेक चौहान और पहाड़ी दरवाजा निवासी रविकांत के तौर पर हुई है। आरोपितों ने एक व्यक्ति से आस्ट्रेलिया में रहने वाला पोता बनकर 1.10 लाख रुपये की ठगी की थी। आरोपितों के खिलाफ साइबर थाना पुलिस ने आइपीसी की धारा 419, 420 और 120बी के तहत केस दर्ज किया है। 

मामले के अनुसार शिकायतकर्ता सेक्टर-44 निवासी इंदर पाल सिंह ने बताया कि 25 अगस्त 2022 को उनके मोबाइल नंबर पर सुबह 11.20 बजे एक काल आई थी। उसने रोते हुए कहा कि दादा जी मै अास्ट्रेलिया से बोल रहा हूं। मै एक क्लब में दोस्तों के साथ पार्टी करने आया था। यहां किसी बात पर दोस्तों की वेटर से लड़ाई हो गई। इस पर एक दोस्त ने वेटर के सिर पर शराब की बोतल मार दी।

हमले में वेटर के गंभीर घायल होने से पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया है। वह झगड़े में शामिल नहीं था, अब पुलिस छह हजार डालर जुर्माना मांग रही है। इस दौरान खुद को वकील बताने वाले एक व्यक्ति ने बात कर कहा कि वह भी दिल्ली का रहने वाला है।आरोपित वकील ने दो बार में शिकायतकर्ता से एक लाख 10 हजार रुपये ट्रांसफर करवा लिया था। इसकी शिकायत साइबर थाना पुलिस को दी।

इस तरह हुई गिरफ्तारी

साइबर एसपी केतन बंसल के सुपरविजन में डीएसपी के निर्देशानुसार इंचार्ज रंजीत सिंह समेत टीम ने आरोपितों को टेक्निकल सेल की मदद से ट्रेस करवाया। आरोपितों के बैंक डिटेल्स, ट्रांजेक्शन आइडी समेत आनलाइन ट्रांजेक्शन के आधार पर पुलिस रविकांत तक पहुंच गई।

यह भी पढ़ें-  चंडीगढ़ में मेघनाद के पुतले को आग लगाने वाले युवक गिरफ्तार, रावण को जलाने की थी प्लानिंग, एक विदेश में सैटल

Edited By: Vinay kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट