जीरकपुर, जेएनएन।  छतबीड़ जू में इंदौर से लाए गए दो शेर यहां के लॉयन सफारी की शान बढ़ाएंगे। शेर गगन और सावन को अाज पहली बार लॉयन सफारी में छोड़ा जाएगा। चिडिय़ाघर प्रबंधन लंबे समय से यहां शेरों की संख्या बढ़ाने की कोशिश में जुटा है।

रेंज अफसर हरपाल सिंह ने बताया कि दोनों शेरों गगन और सावन की उम्र दाे साल है। नए शेरों के लिए यहां नए बाड़ बनाए गए हैं। एक महीने तक इन शेरों को सैलानियों से दूर रखा जाएगा। इस के इलावा छतबीड़ चिडिय़ाघर में डायनासोर पार्क तैयार किया गया है।

जू प्रबंधन का प्रयास है कि आने वाले समय में छतबीड़ जू में शुद्ध नस्ल के एशियाई शेरों का वंश और बढ़ाया जाए। बता दें कि एशियाई शेरों को हाल ही में लुप्तप्राय प्रजाति की श्रेणी में शामिल किया गया है। इस समय विश्व में 450 के करीब शुद्ध एशियाई शेर रह गए हैं।

एक साल के भीतर शुरू होगी ब्रीडिंग प्रक्रिया

छतबीड़ जू के डायरेक्टर एम सुधागर ने बताया कि जू के लायन सफारी में शेर-शेरनी के 10 जोड़ों को रखा जा सकता है। वर्तमान में जू की लायन सफारी में इन्हें मिलाकर सात शेर और शेरनी हो जाएंगे। एक साल के भीतर शेर और शेरनी का कुनबा बढ़ाने के लिए ब्रीडिंग प्रकिया भी शुरू कर दी जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!