चंडीगढ़, [विकास शर्मा]। नेपाल के काठमांडू में आयोजित साउथ एशियन गेम्स में शहर के दो बॉक्सरों ने अपने पंच से देश के लिए दो मेडल जीते। नयागांव के रहने वाले स्पर्श ने 54 किलोभार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता है। स्पर्श मोहाली जिले के नयागांव में अपनी मौसी के यहां रहते हैं। उनके पिता मनोज कुमार दिल्ली में प्राइवेट बस के कंडेक्टर हैं। पंजाब पुलिस के सिपाही जोगिंदर कुमार ने बताया उन्होंने बचपन में स्पर्श को नया गांव में कोचिंग दी थी।

जीएमएसएसएस-11 में पढ़ाई करते समय 8वीं क्लास में स्पर्श का चयन संगरूर के मस्तुआणा साहिब में चल रहे स्पो‌र्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के इंस्टीट्यूट में हो गया था। इससे पहले स्पर्श चंडीगढ़ स्टेट, इंटर स्कूल गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुके थे। जब वह स्पर्श को ट्रायल के लिए साई बॉक्सिंग कोच लाल सिंह के पास ले गए तो वह उनके साउथ पा और ओर्थोडेक्स साइड से खेलते देखकर काफी खुश हुए। इसके बाद लाल सिंह ने उन्हें तराशा और इस काबिल बनाया कि आज वह इंटरनेशनल स्तर की प्रतियोगिता में मेडल जीत रहे हैं।

एसडी कॉलेज के मनीष कौशिक ने जीता सिल्वर मेडल

भिवानी जिले के देवसर गांव के रहने वाले बॉक्सर मनीष कौशिक ने पुरुषों की 64 किलोग्राम भार वर्ग स्पर्धा सिल्वर मेडल जीता है। एसडी कॉलेज-32 के कोच राजेंद्र मान ने बॉक्सर मनीष कौशिक को इस शानदार जीत के लिए बधाई दी। उन्होंने बताया कि मनीष भारतीय सेना में सूबेदार के पद पर तैनात है और भिवानी के साई हॉस्टल में बॉक्सिंग की प्रैक्टिस करते हैं।

इससे पहले मनीष साल 2015-16 में एसडी कॉलेज -32 के स्टूडेंट रहे हैं और उन्होंने साल 2014 में पंजाब यूनिवर्सिटी की तरफ से ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी में खेलते हुए गोल्ड मेडल जीता था। मनीष इससे पहले साल 2018 में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल, व‌र्ल्ड चैंपियनशिप में में ब्रांज मेडल, साल 2017 एशियन चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता है। मनीष साउथ एशियन गेम्स में भारतीय टीम के कैप्टन थे।

 हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!