चंडीगढ़, [विशाल पाठक]। कोराेना अब जल्‍द हारेगा। कोरोना के बढ़ते संक्रमण काे रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया गया है। चंडीगढ़ पीजीआइ (Chandigarh PGI) में ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोविशिल्ड का ट्रायल शुरू हो गया है। पीजीआइ को इस वैक्सीन के ट्रायल के लिए पूरे भारत से 17 सेंटरों में से चुना गया है।

पुणे के सिरम इंस्टिट्यूट द्वारा बनाई जा रही इस वैक्सीन का ट्रायल अब चंडीगढ़ पीजीआइ चंडीगढ़ कोरोना मरीजों पर करेगा। पीजीआइ के कॉम्युनिटी मेडिसिन डिपार्टमेंट की सीनियर डॉ. मधु को इस प्रोजेक्ट के लिए प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर बनाया गया है।

डॉ. मधु ने बताया अभी इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च की ओर से पीजीआइ चंडीगढ़ को इस वैक्सीन ट्रायल के लिए चुना गया है। वैक्सीन के ट्रायल के परिणाम आने के बाद ही यह कहा जा सकेगा कि वैक्सीन कोरोना मरीजों पर कितनी कारागर है।

वैक्सीन कितनी सेफ, इसके बाद होगा मरीजों पर ट्रायल

चंडीगढ़ पीजीआइ पहले इस वैक्सीन का सेफ्टी ट्रायल करेगा। डॉ मधु ने बताया कि ऑक्सफोर्ड में इस वैक्सीन का सेफ्टी ट्रायल हो चुका है। पीजीआइ द्वारा इस वैक्सीन के सेफ्टी ट्रायल के बाद ही इसके काेरोना मरीजों पर इस्तेमाल किया जाएगा। लेकिन इसके लिए पहले एथिकल कमेटी से मंजूरी लेनी होगी।

18 साल से ज्यादा की उम्र के वॉलिंटियर्स पर होगा ट्रायल

डा. मधु ने बताया कि इस वैक्सीन के ट्रायल उन लोगों पर या वॉलिंटियर्स पर किया जाएगा। जिनकी उम्र 18 साल से ज्यादा हो और उन्हें कोरोना न हो। उन पर इस वैक्सीन के ट्रायल के दौरान शरीर में आने वाले हर बदलाव पर नजर रखी जाएगी। उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा। ताकि इन वॉलिंटियर्स के हर शारीरिक बदलाव को रिपोर्ट में शामिल किया जाएगा।

सितंबर के पहले हफ्ते में शुरू होगा ट्रायल

पीजीआइ के डायरेक्टर प्रो. जगतराम ने बताया कि इस वैक्सीन के ट्रायल के लिए 300 से 400 लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इसमें से 200 लोगों को स्क्रीनिंग के दौरान चुना जाएगा। सितंबर के पहले हफ्ते में इस वैक्सीन का ट्रायल शुरु हो जाएगा। ट्रायल के दौरान पीजीआइ के कम्युनिटी मेडिसिन, वायरोलॉजी, इंटरनल मेडिसिन और फार्माेकोलॉजी के सीनियर डॉक्टर शामिल किए जाएंगे। ट्रायल को पूरा होने में कम से कम पांच से छह महीनें का समय लगेगा।

Posted By: Sunil Kumar Jha

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!