जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों के लिए परेशानी बढ़ने वाली है। चंडीगढ़ से संचालित होने वाली 3 ट्रेनों को अगले कई सप्ताहों तक रद कर दिया गया है। बता दें कि रेलवे ने 3 ट्रेनों को रद करने का फैसला लिया है। 

अधिकारियों का कहना है कि जिन यात्रियों ने इन ट्रेनों की टिकट काउंटर्स पर टिकट बुकिंग करवाई है, उन्हें वहीं अपनी टिकट कैंसिल करवानी होगी, जबकि आनलाइन बुकिंग के टिकट खुद रद हो जाएंगे और खाते में राशि वापस आ जाएगी।

रेलवे बोर्ड ने एक दिसंबर से कई ट्रेनों की आवाजाही रोक दी है। उत्तर भारत में दिसंबर से फरवरी महीने में घनी धुंध पड़ती है। सुबह शाम विजिबिलिटी बेहद कम हो जाती है, यात्री सुरक्षा के मद्देनजर इन ट्रेनों की रफ्तार काफी कम हो जाती है। इन ट्रेनों की लेटलतीफी की वजह से अन्य ट्रेनों का भी शेड्यूल बिगड़ता है। 

इसलिए लिया ये फैसला

बता दें कि अब सर्दियों का सीजन शुरू हो गया है। ऐसे में धुंध की वजह से रेल यातायात बुरी तरह से प्रभावित होता है। खासकर लंबी दूरी की ट्रेनें तो 18 से 24 घंटे देरी से रेलवे स्टेशन पर पहुंचती है। इन ट्रेनों की आवाजाही में देरी से यात्रियों को तो परेशानी होती ही है। इसके साथ ही रेलवे की भी खासी फजीहत होती है। इसी फजीहत से बचने के लिए ट्रेनों को रद कर दिया गया है।

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से यह तीन ट्रेनें रद

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से तीन ट्रेनें पहली दिसंबर से तीन ट्रेनें रद रहेंगी। इसमें चंडीगढ़ अमृतसर सुपरफास्ट ट्रेन (12241-42) ट्रेन प्रमुख है। यह ट्रेन पहली दिसंबर से फरवरी 2023 तक रद रहेगी। यह ट्रेन चंडीगढ़ से शाम को  4:45 चलती है और सुबह 9:45 बजे आती है। वहीं चंडीगढ़ -प्रयागराज ट्रेन ( 14217-18) पहली दिसंबर से एक मार्च, 2023 तक रद रहेगी। यह प्रतिदिन इस रूट पर चलती है। यह ट्रेन शाम को पौने पांच बजे चंडीगढ़ से चलती है और सवा नौ बजे प्रयागराज से चंडीगढ़ स्टेशन पर पहुंचती है। वहीं चंडीगढ़ डिब्रूगढ़ ट्रेन (15903-04) दो दिसंबर से 28 फरवरी 2023 तक रद रहेगी। यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन बुधवार और रविवार को चलती है। चंडीगढ़ में यह रात को सवा 11 बजे चलती थी और दोपहर एक बजे चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर पहुंचती थी।

Edited By: Ankesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट