चंडीगढ़ [राजन सैनी]। जिला अदालत ने सुबूतों के अभाव में रेलवे की परीक्षा में फोन पर बात करने वाले तीन युवकों को बरी कर दिया है। तीनों युवकों में से एक हरियाणा के हिसार का रहना वाला संदीप है। वहीं, दो रोहतक के रहने वाले है जिनका नाम भी संदीप है। 2013 में रेलवे की परीक्षा सेक्टर-46 स्थित पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज में हुई थी। इस सेंटर के इंचार्ज शिकायतकर्ता कुलदीप सिंह थे।

सेक्टर-34 थाना पुलिस को दी शिकायत में कुलदीप ने बताया कि परीक्षा से पहले ही सभी परीक्षार्थियों को कॉलेज के नोटिस बोर्ड पर निर्देश दिए गए थे और मेन गेट पर भी बताया गया था कि परीक्षा केंद्र में किसी भी तरह का कोई मोबाइल फोन या कोई कागज न लेकर जाएं। इसके बाद परीक्षा के दौरान जब इंस्पेक्शन की गई तो कमरा नंबर-111 में संदीप रोल नंबर-20027455, कमरा नंबर-203 में संदीप रोल नंबर-20027468 और कमरा नंबर-205 में संदीप रोल नंबर-20027528 फोन पर बात करते हुए पाए गए। तीनों युवकों में से दो को परीक्षा केंद्र में बने कंट्रोल कक्ष में ले जाया गया। जबकि तीसरा युवक जिसका रोल नंबर-20027528 था वह कमरे की खिड़की से अपने एडमिट कार्ड सहित छलांग लगाकर भाग गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की और तीसरे युवक को भी गिरफ्तार कर लिया था।

वहीं, कोर्ट में मामले के ट्रायल के दौरान जब कुलदीप को गवाही के लिए बुलाया गया तो उसने कहा कि वह उस समय परीक्षा केंद्र में मौजूद था लेकिन जिन कमरों में उक्त युवक थे वहां नहीं था। बताया कि उसने तीनों को फोन पर बात करते हुए भी नहीं देखा था। बताया कि उसे उक्त तीनों के बारे में सूचना मिली थी कि वह फोन का इस्तेमाल करते हुए पकड़े गए हैं। अदालत में कुलदीप ने बताया कि वह यह भी नहीं जानता कि तीनों युवकों को मोबाइल का प्रयोग करते हुए किसने पकड़ा। इसके बाद अदालत ने सबूतों के अभाव में तीनों युवकों को रिहा कर दिया।  

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!