जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : शहर की सड़कों का हाल इतना बुरा हो चुका है कि आए दिन टूटी हुई सड़कों की वजह से हादसे हो रहे हैं। ऐसे में कई घरों के चिराग भी बुझ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला तब सामने आया जब रामदरबार फेज-दो निवासी विकास अपने दोस्त रोशन के साथ बाइक से मौलीजागरां की तरफ जा रहा था। रास्ते में खस्ताहाल सड़क की वजह से बाइक का बैलेंस बिगड़ा और हादसे में विकास की मौत हो गई।

विकास इंडस्ट्रियल एरिया स्थित होंडा कंपनी में गाड़ियां धोने का काम करता था। उसके माता-पिता घर के पास ही सब्जी बेचने का काम करते हैं। बीते शनिवार को दोनों दोस्त बाइक पर जा रहे थे। जैसे ही वह मौलीजागरां स्थित रेलवे ब्रिज के पास पहुंचे तो सड़क के बीच गहरा गड्ढा होने के कारण बाइक का संतुलन बिगड़ गया। जिससे दोनों ही सड़क पर गिर गए और विकास के हेलमेट के दो टुकड़े हो गए। इस हादसे में विकास के सिर पर गहरी चोट लगी।

रोशन पहले तो उसे मनीमाजरा डिस्पेंसरी में लेकर गया लेकिन वहां से उसको सेक्टर-32 अस्पताल भेज दिया गया। पीजीआइ रेफर किए जाने के बाद भी नहीं बची जान विकास की गंभीर हालत को देखते हुए उसको देर रात पीजीआइ रेफर कर दिया गया। जहां पर रविवार सुबह पांच बजे उसकी मौत हो गई। सोमवार को सेक्टर-16 अस्पताल में उसका पोस्टमार्टम होने के बाद शव को परिजनों के हवाले कर दिया जाएगा। मृतक विकास के परिजनों का कहना है कि शहर की सड़कें खून की प्यासी हो गई हैं। नगर निगम शहर की सड़कों के बीच गड्ढों को नजरअंदाज कर रहा है। जिस कारण दिवाली से पहले ही उनके घर का चिराग बुझ गया है।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!