चंडीगढ़, वैभव शर्मा। इंसान में अगर कुछ कर गुजरने का जुनून हो तो वह असंभव कार्य को संभव कर देता है। ऐसा ही कुछ शहर का जय कर रहा है। जय पेशे से शिक्षक है और वह लद्दाख, जम्मू और कश्मीर के उन इलाकों में बच्चों की मदद कर रहे है, जहां पहुंचना साधारण व्यक्ति की सोच से बाहर है। इन तीनों राज्यों में कई गांव ऐसे है जो बिल्कुल बॉर्डर से सटे हुए है और यहां कब गोलाबारी शुरू हो जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता। जय अपनी टीम के सथ इन इलाकों में जाकर बच्चों को स्टेशनरी देते है।