मोहाली, जेएनएन। मोहाली के फेज-8 स्थित पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) के बाहर बीते बुधवार के प्रदर्शन कर रहे पंजाब भर के अस्थायी शिक्षकों का धरना अभी भी जारी है। उनकी मांग के कि उन्हें रेगुलर किया जाए। शिक्षकों ने कहा कि सरकार के नुमाइंदे नौकरी देने का वादा बेरोजागरों व अस्थायी तौर पर काम कर रहे कर्मचारियों से करते हैं, लेकिन नौकरी अपने विधायकों के उन रिश्तेदारों को देते हैं जोकि करोड़पति हैं।

अध्यापकों ने कहा कि अब वे सरकार के खिलाफ संघर्ष को ओर तेज करेंगे। अस्थायी शिक्षकों ने अपनी मांगों को लेकर मोहाली की सड़कों पर जाम लगा दिया है। शिक्षकों ने कहा कि उनका यह प्रदर्शन इसी तरह लगातार जारी रहेगा।।

उधर, पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के टॉप फ्लोर पर पेट्रोल की बोतलें लेकर चढ़े शिक्षकों की हालत पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से नजर रखी जा रही है। ध्यान रहे कि बीते शुक्रवार को शिक्षकों की हालत खराब हो गई थी। इसके बाद प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों ने सरकार को चेतावनी दी की अगर किसी भी साथी को कुछ हुआ तो नतीते भुगतने के लिए तैयार रहें।

पीएसईबी के बाहर प्रदर्शन कर रहे शिक्षक नेता दविंदर सिंह ने कहा कि हमें सरकार पर भरोसा नहीं है। सरकार सिर्फ हड़ताल को तोड़ने के लिए झूठे वायदे कर रही है।  विधायकों के रिश्तेदारों को नौकरी दी जा रही है। फिलहाल धरना जारी रहेगा। ध्यान रहे कि बीते बुधवार से पीएसईबी के बाहर पांच जत्थेबंदियों के नुमाइंदों के नेतृत्व में सैकड़ों शिक्षक प्रदर्शन कर रहे हैं। बीते वीरवार को शिक्षकों की पंजाब के शिक्षा मंत्री व नेताओं के साथ चंडीगढ़ में बैठक की थी। बैठक के दौरान कई फैसले लिए गए थे। बावजूद भी शिक्षक प्रदर्शन जारी रखे हुए हैं। हालांकि पंजाब सरकार की ओर से एनटीटी का 27 जून को होने वाला पेपर भी रद कर दिया गया है। मोहाली में चल रहे इस प्रदर्शन के कारण आसपास के लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Edited By: Ankesh Thakur