जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Swachh Survekshan 2022: स्वच्छ सर्वेक्षण की रैकिंग में इस बार चंडीगढ़ ने काफी सुधार किया है। केंद्र सरकार ने चंडीगढ़ की रैकिंग 12 वें नंबर पर दर्ज की है जबकि पिछले साल की चंडीगढ़ की रैकिंग 66 वें नंबर पर दर्ज की गई थी। उस समय चंडीगढ़ के नाम की काफी किरकिरी हुई थी।लेकिन इस बार चंडीगढ़ टाप-15 में अपना नाम दर्ज करवाने में कामयाब रहा है। चंडीगढ़ को आल ओवर 7500 में से 6209 अंक मिले हैं। जबकि नंबर-1 पर रहे इंदौर को 7146 अंक मिले हैं जबकि ओडीएफ की कैटगरी में चंडीगढ़ को पूरे एक हजार में से एक हजार अंक मिले। चंडीगढ़ से पहले 11 वें नंबर पर नोएडा रहा है।

रैकिंग सुधारने में शहरवासियों का मिला सहयाेग

हालांकि चंडीगढ़ डड्डूमाजरा के डंपिंग ग्राउंड में पड़े कचरे को पहाड़ नहीं हटा पाया और न ही अपने गारबेज प्रोसेसिग प्लांट को अपग्रेड कर पाया है इसके बावजूद चंडीगढ़ ने अपनी रैकिंग सुधारने का बड़ा काम किया है।शहरवासियों का विश्वास जीतने का प्रयास किया है। रैकिंग सुधारने में शहरवासियों ने भी भरपूर सहयोग दिया है।सर्विस लेवल प्रोग्रेस कैटगरी में चंडीगढ़ को 3000 में से 2512 अंक मिले हैं।सिटीजन फीडबैक कैटगरी में 600 में से 582 अंक मिले हैं।

नगर निगम को 2500 में से 1600 अंक मिले

सोलिड वेस्ट मैनजमेंट में 2100 में से 1838 अंक मिले हैं। इसके साथ ही चंडीगढ़ को फास्टेस्ट मूविंग कैपिटल का अवार्ड देकर नवाजा गया है। 4354 शहरों ने इस सर्वेक्षण में भाग लिया था। नगर निगम को 2500 में से 1600 अंक मिले हैं। दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में मेयर सरबजीत कौर और कमिश्नर आनिंदिता मित्रा ने यह अवार्ड लिया है।इस मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर दलीप शर्मा और डिप्टी मेयर अनूप गुप्ता भी मौजूद रहे।

मेयर ने जताया आभार

यह चंडीगढ़ के सभी निवासियों,अधिकारियों और नगर पार्षदों के लिए गर्व का क्षण है,जिन्होंने चंडीगढ़ को एक सुंदर शहर के रूप में अपनी पहचान बनाने के लिए मिलकर काम किया। आयुक्त के कुशल नेतृत्व में निगम की पूरी टीम को बधाई। शहरवासियों का सहयोग आगे भी मिलता रहेगा। -सरबजीत कौर, मेयर, नगर निगम

रैकिंग सुधारने के लिए नगर निगम ने क्या क्या किया

  • नगर निगम ने सूखा और गीला कचरे का सेग्रीगेशन सुनिश्चित किया।इस समय शहर में 96 फीसद सेग्रीगेशन हो रहा है। अब नगर निगम ने दो तरह का नहीं बल्कि चार तरह का कचरा सेग्रीगेट करना अनिवार्य कर दिया है।
  • सालिड वेस्ट मनेजमेट बायलाज को सख्ती से लागू करवाया जा रहा है।गंदगी और अन्य वायलेशन करने पर चालान काटे जा रहा है।अब गंदगी फैलाने के 10 हजार रुपये के चालान काटे जाते हैं।
  •  
  • शहर के पब्लिक टायलेट पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।पब्लिक टायलेट्स पर शहरवासी फीडबैक भी दे सकते हैं।
  • स्वच्छ सर्वेक्षण अभियान में नगर निगम ने स्कूली बच्चों को भी शामिल किया है।स्कूलों में जाकर बच्चों को जागरूक किया गया।उनके बीच प्रतियोगिता करवाई गई।
  •  
  • इस समय नगर निगम की ओर से स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत लोगों के घर से पुराने कपड़े इकट्ठे किए जाते हैं उन्हें धुला कर फिर से एक रुपये में बेचा जाता है।धनास में नया सा नाम से स्टोर खोला गया है।
  • शहर के मलबा को प्रोसेस करके उन्हें प्रोसेस करके ईट और पेवर ब्लाक बनाए जा रहे हैं।जो फूल फेंक दिए जाते हैं उनका प्रयोग अगरबती बनाने के लिए किया जा रहा है।
  • डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन इकट्ठे करने के लिए नगर निगम की ओर से 399 गाड़ियां चलाई जा रही है।डोर टू डोर गारबेज कलेक्टर्स को नगर निगम ने अपने अंतगर्त किया हुआ है।
  • सफाई कर्मचारियों को स्मार्ट वाच दी गई ताकि वह समय पर एरिया में सफाई का काम करे।
  • शहर के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स को अपग्रेड किया जा रहा है।इसके अलावा शहर में एमआरएफ स्टेशन बनाए गए हैं।

कमिश्नर को जाता है श्रेय

रैकिंग सुधरने का सबसे ज्यादा श्रेय कमिश्नर आनिंदिता मित्रा को जाता है हालांकि कमिश्नर ने पिछले साल अगस्त माह में ही चंडीगढ़ नगर निगम को ज्वाइंन किया था।कमिश्नर का पूरा ध्यान स्वच्छ सर्वेक्षण और रैकिंग सुधरने पर लग रहा।कमिश्नर को मेयर सरबजीत कौर का भी पूरा सहयोग मिला।कमिश्नर और मेयर की ओर से खुद शहर के पार्क और पब्लिक टायलेट्स की सफाई करके लोगों को जागरूक किया गया।

साल 2016 में दूसरे स्थान पर था चंडीगढ़

साल 2020 में चंडीगढ़ स्वच्छ सर्वेक्षण में 16 वें नंबर पर था।पिछले साल चंडीगढ़ को स्वच्छ भारत अभियान के तहत करवाए गए ‘सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज’ में बेस्ट परफाॅर्मिंग यूटी का अवार्ड मिला था।साल 2016 में चंडीगढ़ स्वच्छता के मामले में देश में दूसरे स्थान पर था। उसके बाद वर्ष 2017 में 11वें, 2018 में तीसरे और 2019 में 20वें पायेदान पर रहा है।

इस अच्छे प्रदर्शन का हमारे शहरवासियों को श्रेय जाता है।उन्होंने शहर को स्वच्छ रखने में पूरा सहयोग दिया है।काफी प्रयास किए जा रहे हैं।इसके परिणाम जल्द दिखाई देंगे।अगले स्वच्छ सर्वेक्षण में चंडीगढ़ टाप-5 में शामिल होगा।-आनिंदिता मित्रा, कमिश्नर, नगर निगम

Edited By: Vipin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट