चंडीगढ़ [जय सिंह छिब्बर]। आम आदमी पार्टी के बागी सुखपाल सिंह खैहरा ने विधायक पद से दिया अपना इस्तीफा वापस लेने का फैसला किया है। खैहरा ने इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष राणा कंवरपाल को पत्र लिखकर इस्तीफा वापस लेने की बात कही है। साथ ही, खैहरा ने विधानसभा अध्यक्ष से अपने खिलाफ दल बदल अधिनियम के तहत याचिका के मामले में अतिरिक्त समय देने की भी मांग की है।

बता दें, भुलत्थ विधानसतभा क्षेत्र के विधायक सुुुुुुखपाल सिंह खैहरा ने लोकसभा चुनाव से पूर्व अप्रैल में विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेजा था। इस्तीफा देते वक्त खैहरा ने कहा था कि वह बठिंडा लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। इस्तीफे का फैसला उन्होंने अपने हलके के लोगों की राय से लिया है। इसके बाद उन्होंने बठिंडा से चुनाव लड़ा लेकिन वह जीत नहीं पाए। खैहरा चौथे स्थान पर रहे।

इस्तीफा देते वक्त खैहरा ने कहा था कि उन्होंने आम आदमी पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन जीत अपने बलबूते दर्ज की थी। आम आदमी पार्टी में सिद्धांत न होने के कारण उन्होंने अपनी आवाज बुलंद करते हुए पंजाबी एकता पार्टी का गठन किया। 

ठहरने के लिए अपने दरवाजे बंद करें: चीमा

उधर, आप विधायक व नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने सुखपाल खैहरा को विश्वासघाती और अवसरवादी बताया। कहा कि खैहरा के लिए पार्टी के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हैं। चीमा ने कहा कि स्पीकर को खैहरा पर कार्रवाई करनी चाहिए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!