जागरण संवाददाता, मोहाली। मोहाली की नए डीसी ईशा कालिया एक्शन मोड पर हैं। वीरवार को उपायुक्त ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने कई सख्त हिदायतें जारी की। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर लोग सक्रियता नहीं दिखा रहे हैं। वहीं, जिन स्कूल शिक्षकों ने अभी तक वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगवाई हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, जिले में बढ़ रहे डेंगू के मरीजों को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। बढ़ते मामलों को लेकर डीसी मोहली ईशा कालिया ने फागिंग बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। कालिया ने कोविड टेस्टिंग, कांटेक्ट ट्रेसिंग व टीकाकरण पर जोर दिया। डीसी ने जीरकपुर में फैले रहे डायरिया को लेकर कहा कि उन स्थानों पर विशेष फोकस किया जाए जहां डायरिया के केस ज्यादा आ रहे हैं। 

डीसी ने कहा क अभी भी कई लोग वैक्सीन की दूसरी जोज लगवाने नहीं जा रहे हैं, ऐसा करना खतरनाक साबित हो सकता है। इसको लेकर लोगों को जागरूक किया जाए। मोहाली सिविल सर्जन डॉ. आदर्श पाल कौर को कहा गया कि वे इस बात को यकीनी बनाएं कि शैक्षणिक संस्थानों में टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हों। अगर कोई नियमों की पालना करता है तो उसपर सख्त कार्रवाई की जाए।

 

डेंगू की रोकथाम के लिए फागिंग को तेज करने के निर्देश देते हुए डीसी ने कहा कि संबंधित वाहन जोकि फागिंग कर रहे हैं उनकी निगरानी जीपीएस के साथ की जाए। इस दौरान जिले की सिविल सर्जन डॉ. आदर्श पाल कौर ने कहा कि लोग डेंगू को फैलने से रोकने में सहयोग करें। फागिंग के समय अपने घरों के दरवाजे व खिड़कियों को खोल कर रखें। किसी भी जगह पर गंदा व साफ पानी एकत्रित न होने दें।

सिविल सर्जन ने कहा कि जिले में 13 टीमें बीते मार्च माह से डेंगू को लेकर काम कर रही है। अभी स्थिति नियत्रंण में है। लेकिन लोगों को सतर्कता बरतने की जरूरत है। ध्यान रहे कि पिछले दो दिनों से डेंगू के केसों में लगातार इजाफा हो रहा है। सेहत विभाग का कहना है कि डेंगू व कोविड के लक्षण एक जैसे है। इस लिए लोगों को चाहिए कि वे सतर्क रहे। बुखार आने पर फौरन डाक्टर से संपर्क करे। 

Edited By: Ankesh Thakur