जेएनएन, चंडीगढ़। भीड़-भाड़। हर कोई एक झलक पाने को बेताब। करीबन डेढ़ घंटा देरी से पहुंची सोनाक्षी सिन्हा ने आते ही माफी मांगी। सोनाक्षी जीरकपुर पहुंची तो उनका आगमन ही अपनी माफी से हुआ। उन्होंने कहा कि आज पंजाब में हूं तो यहां की मुटियार को जरूर देखना चाहूंगी।

सोनाक्षी ने कहा, मुझे लोग कहते हैं कि मैं भी पंजाबण लगती हूं। ऐसा सच में है क्या? कई तो पंजाबी गायक भी मुझे ऐसा बोल चुके हैं, इसलिए शायद मैंने अपनी प्लेलिस्ट में ज्यादा पंजाबी गीत ही शामिल किए हैं। इनको सुनने का अपना ही मजा है। मुझे जस्सी गिल के गीत ज्यादा पसंद है। इसमें हाल ही में गिटार सिखदा सुना था। अच्छा लगा था।

पंजाबी फिल्म नहीं गीत ही सुने

सोनाक्षी ने कहा कि मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में कई कलाकार पंजाब से हैं, ऐसे में पंजाब को ज्यादा जानने का मौका वहीं मिला। यहां कुछ फिल्म की शूटिंग के दौरान आना हुआ। खेत काफी पसंद है मुझे। यहां आकर भी मैंने खेत देखे तो खुशी हुई। हां, इन दिनों पंजाबी फिल्मों की भी खूब चर्चा है।

सोनाक्षी का कहना है, मैंने हालांकि देखी तो नहीं, मगर कुछ पंजाबी फिल्मी कलाकारों के साथ काम किया तो कुछ फिल्मों के बारे में सुना और गीतों पर ज्यादा रिसर्च की। अब यहां आई हूं, तो यहां के खाने को लेकर भी जरूर कुछ ट्राय करूंगी। फूडी तो मैं शुरू से ही हूं। मुझे लगता है कि खाने पीने को लेकर पंजाब ही बेस्ट ऑप्शन है।

पंजाबी में बस कुछ एक शब्द ही बोल पाती हूं...

सोनाक्षी ने कहा कि उन्हें पंजाबी भाषा गीतों के जरिए सीखी है। इसमें सोहणी लगदी, चंगा लगदा, कैम आ जैसे शब्द सीखे हैं। हां, कुछ शरारत भरे शब्द भी हैैं, जैसे की चपेड़ खाणी हां, जैसे शब्द भी सीखे हैैं। उम्मीद है ये कहने का मौका मुझे ज्यादा नहीं मिलेगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!