जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। शहर में एक युवक ने अपने ही घर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। युवक ने घर पर रखे मां के गहने और नकदी चुरा ली। जब युवक ने वारदात को अंजाम दिया उस समय घर पर कोई नहीं था। आरोपित अपनी मां के साथ घर पर रहता है। युवक की मां जब घर वापस तो उसने अज्ञात के खिलाफ मलोया थाना पुलिस को शिकायत दी। पुलिस की जांच के आधार पर आरोपित बेटे को गिरफ्तार कर लिया था। आरोपितों रकीब की निशानदेही पर पुलिस चोरी के गहनों की बरामदगी में लगी है।

जानकारी के अनुसार आरोपित रकीब डड्डूमाजरा में अपनी मां के साथ रहता है। महिला के बाहर जाने पर रकीब ने अलमारी का ताला खोलकर गहने और दो हजार नगदी चुरा ली। जब उसकी मां ने अलमारी खोला तो उनके होश उड़ गए। अलमारी से गहने गायब थे। जिसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश किया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

नशा तस्करी में गिरफ्तार आरोपित को भेजा जेल

सेक्टर-39/40 डिवाइडिंग रोड पर पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपित को जिला अदालत ने न्यायिक हिरासत भेज दिया है। पुलिस टीम ने आरोपित के पास 44 ग्राम हेरोइन की बरामद की थी। आरोपित की पहचान सेक्टर-38ए के रहने वाले 22 वर्षीय विशाल के तौर पर हुई। सब इंस्पेक्टर के सुपरविजन में कांस्टेबल प्रदीप, वजीर सिंह और कांस्टेबल राजेश कुमार एरिया नाकाबंदी कर चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान सेक्टर-40 स्थित स्लिप रोड पर एक मोना युवक पुलिसकर्मियों को देखकर अचानक पीछे की तरफ भागने लगा। संदिग्ध हरकत देखकर स्नैचर समझकर एक कांस्टेबल ने उसे दबोच लिया। आरोपित से मिले प्लास्टिक के डिब्बे पुलिस को 44 ग्राम हेरोइन बरामद हुई।

430 ग्राम के साथ युवक गिरफ्तार

वहीं, दूसरी तरफ सेक्टर 26 थाना पुलिस के अंतर्गत आने वाले बापूधाम चौकी पुलिस ने एरिया में पेट्रोलिंग के समय एक संदिग्ध युवक को रोकने की कोशिश की। उक्त युवक ने हाथ में पीले रंग का एक कैरी बैग लिया हुआ था। पुलिस कर्मियों को देख कैरी बैग फेंकने से पहले उसे दबोच लिया गया। आरोपित 19 वर्षीय साहिल के बैग से 430 ग्राम गांजा बरामद हुआ। इसके बाद पुलिस ने उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

Edited By: Ankesh Thakur