चंडीगढ़ [विकास शर्मा]। डीएवी कॉलेज-10 में पढ़ने वाले सरताज सिंह टिवाना ने सिल्वर मेडल पर निशाना लगाया है। पटियाला के रहने वाले सरताज ने 50 मीटर थ्री पोजीशन की प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता। इस प्रतियोगिता में पंजाब के शूटर नीरज ने गोल्ड पर निशाना लगाया, जबकि हरियाणा के नीतिश कुमार ने ब्रांज मेडल जीता। सरताज ने साल 2018-19 पुणे में आयोजित खेलो इंडिया शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड पर निशाना लगाया था।

50 मीटर राइफल की अलग प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले सरजात ने बताया कि उन्होंने काफी मेहनत की थी, लेकिन वह गोल्ड मेडल जीतने से चूक गए। कई राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीत चुके हैं मेडल सरताज 50 मीटर राइफल की अलग-अलग प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हैं और पिछले कई सालों से राष्ट्रीय स्तर मेडल जीत रहे हैं। पंजाब की तरफ से खेलने वाले यह सरताज ने बताया कि हर जीत आपमें आत्मविश्वास बढ़ाती है, इसलिए यह जीत भी मेरे लिए खास है। मैंने भविष्य में और बेहतर करने की कोशिश करूंगा।

उपलब्धियां

-साल 2016-17 पंजाब स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप में 4 गोल्ड और एक ब्रांज मेडल जीता।

-61वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में एक गोल्ड और एक सिल्वर मेडल जीता।

-आइएसएसएफ व‌र्ल्ड कप आस्ट्रेलिया -2018 में देश का प्रतिनिधित्व किया।

कोच विकास प्रसाद बोले भविष्य के चैंपियन हैं सरताज

शूटर सरताज सिंह टिवाना के कोच विकास प्रसाद ने बताया कि सरताज भविष्य के चैंपियन हैं, वह लगातार मेडल जीत रहे हैं, उनकी शानदार परफॉर्मेस की एक वजह यही है कि वह शूटिंग के दौरान दिमाग का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करते हैं, वह उसी टेक्निक का इस्तेमाल करते हैं। जो उन्हें कोचिंग के दौरान सिखाई जाती है, ज्यादातर खिलाड़ी बड़ी प्रतियोगिताओं में इसलिए मेडल जीतने से चूक जाते हैं, क्योंकि वह मैच में टेक्निक की बजाय अपने दिमाग का ज्यादा इस्तेमाल करने लग जाते हैं। उन्होंने सिल्वर मेडल जीतने पर सरताज टिवाना को बधाई दी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!