जेएनएन, कुराली (मोहाली)। सिसवां रोड पर ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के निकट सीवरेज मैनहोल में आई ब्लॉकेज क्लीयर करने गए कांट्रेक्ट पर कार्यरत सीवरमैन की जहरीली गैस चढ़ने से मौत हो गई। उसे बचाने के लिए मैनहोल में उतरे अन्य दो कांट्रेक्ट पर कार्यरत सीवरमैन भी गैस की चपेट में आ गए, लेकिन उन्हें समय रहते बाहर निकालकर बचा लिया गया। बताया जा रहा है कि हादसे के समय तीनों कर्मी बिना सेफ्टी उपकरण काम कर रहे थे। सिविल अस्पताल में फ‌र्स्ट एड के लिए लाए गए सीवरमैन लखन ने बताया कि काउंसिल के सीवरेज प्रोजेक्ट के इंचार्ज अजमेर सिंह की अगुआई में तीन सीवरमैन ब्लॉकेज क्लीयर करने गए थे। इस दौरान मैनहोल से गंदे पानी के दो टैंकर्स निकाले गए, तब तक सब कुछ ठीक था। करीब बारह बजे बीरू नामक सीवरमैन मैनहोल में सफाई के लिए उतरा और इसी दौरान अचानक जहरीली गैस का रिसाव हुआ, जिसके चलते बीरू की हालत बिगड़ने लगी।

बीरू को बचाने गए दोनों कर्मी भी आ गए चपेट में

बीरू को बचाने के लिए दूसरा सीवरमैन हनीश भी मैनहोल में उतर गया, पर उसकी भी तबियत बिगड़ने लगी। बीरू और हनीश को बचाने के लिए लखन मैनहोल में उतर गया पर उसकी तबियत भी खराब होने लगी। इसके बाद मैनहोल के बाहर खडे़ इंचार्ज अजमेर सिंह ने बहादुरी दिखाते हुए किसी तरह पहले हनीश और बाद में लखन को बाहर निकाला। उसके बाद सीवरमैन बीरू को बचाने के लिए वे मैनहोल में उतरे और अपनी दस्तार खोल अन्य लोगों की सहायता से बीरू को अचेत अवस्था में बाहर निकाला।

एक को मिली छुट्टी, दूसरा एडमिट

इसके बाद तीनों सीवरमैनों को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर्स ने लखन को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी देकर हनीश को एडमिट कर लिया। जबकि बीरू की नाजुक हालत को देखते हुए उसे पीजीआइ चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मामले की जांच होगी इस संबंध में कुराली काउंसिल के कार्यकारी अधिकारी गुरदीप सिंह ने कहा कि उन्हें बीरू के परिवार से सहानुभूति है। हादसा कैसे हुआ और कर्मियों के पास सेफ्टी उपकरण थे या नहीं, इसकी जांच होगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!