चंडीगढ़ [बलवान करिवाल]। चंडीगढ़ सहित अन्य कई शहरों में एक बार फिर अचानक से वायु प्रदूषण तेजी से बढ़ गया है। सोमवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air quality index AQI) 186 प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया जो बारिश के बाद अब सबसे अधिक है। इससे पहले भी नवंबर के शुरू में एक्यूआइ बढ़कर 200 के पार पहुंच गया था, जिससे से दीपावली पर पटाखों को जलाने पर पाबंदी तक लगानी पड़ी थी, लेकिन दीपावली के अगले दिन ही तेज बारिश के बाद हवा एकदम से क्रिस्टल की तरह साफ हो गई थी। 

एक्यूआइ कम होकर 55 तक आ गया था, लेकिन अब फिर से हवा में प्रदूषण के पार्टिकुलेट मैटर बढ़ने लगे हैं। पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा सबसे अधिक बढ़ गई है। इसके बढ़ने की सबसे ज्यादा बड़ी वजह वाहनों से निकलने वाला धुआं है। हवा में गुणवत्ता लगातार कम हो रही है। सिर्फ चंडीगढ़ ही नहीं आसपास के शहरों की भी हवा खराब हो चुकी है। दिल्ली एनसीआर एरिया का तो सबसे ज्यादा बुरा हाल है। वहां अभी भी एक्यूआइ 300 के पार है।

आस पास शहरों का ऐसा हाल

चंडीगढ़ का AQI सोमवार को 186 दर्ज किया गया, वहींं साथ लगते पंचकूला का तो इससे भी ज्यादा बुरा हाल है यहां इसकी मात्रा 213 दर्ज की गई है। पंजाब के शहरों की बात करेंं तो जालंधर में AQI 210 और लुधियाना में 209 वही पटियाला में 142 दर्ज किया गया। अमृतसर में तो यह बढ़कर 240 तक पहुंच गया। बात हरियाणा की शहरों की करें तो यहां भी हालत कुछ ज्यादा ठीक नहीं है चंडीगढ़ से कुछ मील की दूरी पर स्थित अंबाला में AQI 409 तक पहुंच चुका है, जो बेहद खराब स्थिति को बताता है। इतने खराब वातावरण में खुली हवा के अंदर सांस लेना ठीक नहीं माना जाता। कुरुक्षेत्र में 283 और करनाल में 179 AQI दर्ज किया गया है।

राजधानी दिल्ली में यह हाल

बात देश की राजधानी दिल्ली और उसके साथ लगते एनसीआर एरिया की करें तो यहां भी हालत बदतर होते जा रहे हैं। नई दिल्ली का AQI 313 तो साथ लगते नोएडा शहर का 339 दर्ज किया गया। फरीदाबाद में 297 और गुरुग्राम में 286 AQI दर्ज किया गया है।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप