चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब के जिला संगरुर के 27 साल के इंजीनियर सुख¨वदर सिंह ने जिंदगी को अलविदा कहने से पहले चार लोगों को नई जिंदगी दी। इंजीनियर सुखविंदर सिंह के साथ नौ फरवरी को खरड़ के पास सड़क हादसा हो गया था। वह एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर थे।

सड़क हादसे में हुए थे घायल

नौ फरवरी को वह मोटरसाइकिल पर जा रहे थे कि तभी उनका एक्सीडेंट हो गया। उन्हें इलाज के लिए खरड़ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस सड़क हादसे में सुखविंदर सिंह के सिर में गहरी चोट आई थी। दस फरवरी को सुखविंदर को पीजीआइ चंडीगढ़ में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। 14 फरवरी को पीजीआइ की ओर से सुखविंदर को ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया था।

पीजीआइ के डॉक्टरों ने मृतक के पिता गुरपाल सिंह से ऑर्गन डोनेशन के बारे में बात की। इस पर गुरपाल सिंह अपने बेटे के ऑर्गन डोनेशन के लिए राजी हो गए। सुखविंदर सिंह ने इस दुनिया को अलविदा कहने से पहले चार लोगों को नई जिंदगी देकर उनके परिवार को आबाद किया। गुरपाल सिंह के इस फैसले की लाेगाें ने सराहना की है अाैर कहा कि एेसे कामाें से अाैर भी लाेगाें काे प्रेरणा मिलेगी। 

 सुखविंदर की किडनी दो मरीजों में ट्रांसप्लांट

पीजीआइ के रोटो नॉर्थ के नॉडल ऑफिसर प्रो. विपिन कौशल के मुताबिक मृतक सुखविंदर सिंह की किडनी दो अलग-अलग मरीजों में ट्रांसप्लांट की गई। जबकि सुखविंदर की आंखों की कोरनिया दो अलग मरीजों में ट्रांसप्लांट की गई। जिससे चार लोगों को नई जिंदगी देकर सुखविंदर सिंह ने उनके परिवार में खुशियां बिखेरी। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।