जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : तीन दिवसीय रोज फेस्टिवल के दौरान कुल 1089 लोगों ने चौपर राइड का लुत्फ उठाया। इस दौरान 167 बार चौपर ने उड़ान भरी। दिल्ली की कंपनी हेरिटेज एविएशन प्राइवेट लिमिटेड को 25 लाख रुपये की कमाई हुई। इसमें से कंपनी को पांस प्रतिशत रेवेन्यू नगर निगम को देना होगा। फेस्टिवल के अंतिम दिन छुट्टी के चलते रविवार को चौपर राइड के लिए काफी भीड़ उमड़ी। 702 लोगों ने चौपर राइड का आनंद उठाया। हालांकि, कंपनी ने रविवार को दो चौपर की व्यवस्था की हुई थी। बावजूद इसके भीड़ के चलते राइड के लिए लंबी वेटिंग थी। आसमान की सैर.. चौपर राइड सेक्टर-17 परेड ग्राउंड से शुरू हुई। इस दौरान लोगों को आसमान से रॉक गार्डन, हाईकोर्ट, सुखना लेक और रोज गार्डन का नजारा देखने को मिलता है। शानदार अनुभव रहा : दलजीत दलजीत सिंह ने बताया कि उन्होंने दूसरी बार चौपर राइड ली है। उन्होंने कहा कि राइड का उनका अच्छा अनुभव रहा है, जबकि लंबी वेटिंग के चलते उन्हें परेशानी का सामना जरूर करना पड़ा। दलजीत ने कहा कि वह 10.30 बजे के करीब राइड के लिए आए थे, लेकिन उनका नंबर दोहपर 12.30 बजे के करीब आया। बेहद खूबसूरत नजारा था : सरिता इसी तरह सरिता ने बताया कि उन्होंने पहली बार चंडीगढ़ को ऊपर से देखा और उन्हें बहुत अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि रोज गार्डन से लेकर सुखना लेक का बहुत ही सुंदर नजारा आसमान से दिखाई देता है। वेटिंग से हुई परेशानी : करकीरत करकीरत सिंह ने बताया कि वह चंडीगढ़ में सेक्टर-35 में रहते हैं। पिछली बार रोज फेस्टिवल के दौरान कुछ जानकारों ने राइड ली थी, जिन्होंने अपने अनुभव के बारे में उन्हें बताया था। यही कारण है कि इस बार वह चौपर राइड के लिए यहां आए और काफी अच्छा अनुभव रहा। उन्होंने कहा कि वेटिंग के चलते परेशानी का जरूर सामना करना पड़ा। निगम का यह प्रयास अच्छा था : मनिंदर मनिंदर सिंह ने बताया कि चौपर राइड लेकर उन्हें काफी अच्छा लगा है। वह चाहते हैं कि निगम इसी तरह हर साल ही फेस्टिवल में कुछ न कुछ नया करता रहे, ताकि फेस्टिवल में शहरवासियों की रुचि बरकरार रहे। शहरवासियों के लिए चौपर राइड के सिवा फेस्टिवल में कुछ भी नया नहीं है। दस बजे से पहले फीस ज्यादा लेने पर भड़के लोग निगम ने सुबह आठ से लेकर 10 बजे तक चौपर राइड की फीस 2380 रुपये की जगह 1800 रुपये तय की थी, लेकिन कई लोगों ने आरोप लगाया कि दस बजे से पहले ही कंपनी ने 2380 रुपये की उनकी टिकट काट दी। इसका लोगों ने विरोध भी किया। इस संबंध में सेक्टर-21 निवासी श्वेता शर्मा ने कहा कि वह 9.30 वहां पहुंच गई थी, लेकिन उनसे टिकट के अधिक पैसे मांगे गए और उनके विरोध के बाद ही जिन भी लोगों की टिकट उन्होंने 2380 रुपये की काटी थी, उनके पैसे वापस किए गए। उन्होंने कहा कि वह सोमवार को निगम कमिश्नर को इसकी लिखित में शिकायत देंगी। राइड का समय कम करने का भी लगाया आरोप लोगों ने रविवार को राइड का समय कम करने का भी आरोप लगाया। सेक्टर-20 निवासी अस्तित्व चौहान ने कहा कि कंपनी ने आठ से दस मिनट राइड का दावा किया था, लेकिन छह मिनट में ही वह राइड को निपटा रहे थे। इसका उन्होंने विरोध भी किया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!