विशाल पाठक, चंडीगढ़ : एस्टेट ऑफिस की ओर से वीरवार को प्रॉपर्टी की ई-ऑक्शन हुई। इस ई-ऑक्शन में सेक्टर-33 की दो कनाल की रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी सबसे महंगी बिकी। सेक्टर-33 स्थित साइट नंबर-540 1014 स्क्वेयर यार्ड (दो कनाल की कोठी की जगह) रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी का रिजर्व प्राइज एस्टेट ऑफिस ने 7.53 करोड़ रुपये रखा था। वीरवार को प्रॉपर्टी की ई-ऑक्शन में यह साइट 15.30 करोड़ रुपये में सबसे ऊंची बोली के साथ बिकी। एईओ मनीष लोहान ने बताया कि एस्टेट ऑफिस की प्रॉपर्टी ई-ऑक्शन के जरिये डिपार्टमेंट को 44 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। ई-ऑक्शन में सभी 11 रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी बिक गई। इन 11 रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी का रिजर्व प्राइस एस्टेट ऑफिस ने 27 करोड़ रुपये रखा था। सभी 11 रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी कुल 44 करोड़ रुपये में बिकी। नहीं बिकी एक भी कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी

एस्टेट ऑफिस की ओर से 11 रेजिडेंशियल, 14 कमर्शियल और एक इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी ई-ऑक्शन में शामिल की गई थी। इनमें से एक भी कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी नहीं बिकी। कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी न बिकने का सबसे बड़ा कारण यह था कि ये सब लीज होल्ड थी। लीज होल्ड के साथ-साथ इन सभी कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी का रिजर्व प्राइज भी बहुत अधिक था। जिसके चलते ई-ऑक्शन में एक भी कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी का खरीदार सामने नहीं आया। बता दें फरवरी 2019 में भी एस्टेट ऑफिस की ओर से प्रॉपर्टी की ई-ऑक्शन की गई थी। उस दौरान भी कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी का अच्छा रिस्पांस नहीं मिल पाया था। इसका एक ही कारण है कि यह कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी सभी लीज होल्ड पर हैं। जिसके कारण इस बार भी कोई कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी नहीं बिकी। कई बार प्रॉपर्टी डीलरों व एसोसिएशन की ओर से लीज होल्ड कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी को फ्री होल्ड करने की मांग उठाई है। लेकिन प्रशासन अब तक इन प्रॉपर्टीज को लीज टू फ्री होल्ड नहीं कर सका। प्रॉपर्टी को मिला अच्छा रिस्पांस, बाजार में बूम

प्रॉपर्टी बाजार निवेशकों व डीलरों की मानें तो एस्टेट ऑफिस की रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी ई-ऑक्शन को अच्छा रिस्पांस मिला है। इससे यह जाहिर होता है कि शहर में प्रॉपर्टी बाजार बूम पर है। शहर में प्रॉपर्टी खरीदारों की कमी नहीं है। पिछली बार के मुकाबले एस्टेट ऑफिस को रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी ई-ऑक्शन में अच्छा मुनाफा हुआ है। ये रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी इतने करोड़ में बिकी

लोकेशन साइट नंबर एरिया (स्क्वेयर यार्ड में) रिजर्व प्राइज (करोड़ में) इतने में बिकी (करोड़ में)

सेक्टर-33 540 1014 7,53,78,732 15,30,28,732

सेक्टर-40बी 1421 528.125 3,71,92,675 4,01,92,675

सेक्टर-35सी 2151 482.625 3,58,77,377 4,52,27,377

सेक्टर-40बी 1439 335.833 2,36,50,703 3,35,50,703

सेक्टर-40 237 259.405 1,82,68,338 3,18,18,338

सेक्टर-38 3526 253.50 1,78,52,484 3,42,02,484

सेक्टर-38 1045 251.33 1,76,99,664 2,95,02,484

सेक्टर-32ए 471 बिल्टअप 126.75 1,00,31,435 1,68,94,592

सेक्टर-37 2759 169 1,25,63,122 2,11,63,122

सेक्टर-37 3492 169 1,25,63,122 1,78,63,122

सेक्टर-37 3593 169 1,25,63,122 1,71,13,122 नहीं बिकी यह कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी

एस्टेट ऑफिस की ओर से 14 कमर्शियल और एक इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी ई-ऑक्शन में शामिल की गई थी। इनमे से एक भी नहीं बिकी। प्रॉपर्टी बाजार के जानकारों की मानें तो यह कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी इसलिए नहीं बिकी। क्योंकि यह सब लीज होल्ड प्रॉपर्टी थी। जबकि चंडीगढ़ से सटे पंचकूला और मोहाली में इनसे कम दाम में फ्री होल्ड कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी आसानी से उपलब्ध हैं। कमर्शियल प्रॉपर्टी में सेक्टर-24 में बूथ साइट नंबर-173 का रिजर्व प्राइस 65,41,691 रुपये रखा गया था। सेक्टर-33 डी की बूथ साइट नंबर-18 का रिजर्व प्राइस 61,35,991 रुपये, सेक्टर-36 में बूथ साइट नंबर-160 का रिजर्व प्राइस 1,66,01,142 रुपये, सेक्टर-36डी की बूथ साइट नंबर-180 का रिजर्व प्राइस 1,66,01,142 रुपये, सेक्टर-42 की साइट नंबर-48 (एससीओ) का रिजर्व प्राइस 3,73,74,480 रुपये, सेक्टर-44 की बूथ साइट नंबर-22 का रिजर्व प्राइस 61,35,991 रुपये रखा गया था। सेक्टर-44सी व डी की बूथ साइट नंबर-280 का रिजर्व प्राइस 1,42,24,555 रुपये, सेक्टर-39डी की बूथ साइट नंबर-204 का 68,77,406 रुपये, बूथ साइट नंबर-205 से लेकर 211 तक का रिजर्व प्राइस 68,77,406 रुपये रखा गया था। इसके अलावा एस्टेट आफिस ने एक लीज होल्ड इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी भी ई-ऑक्शन में शामिल की थी। इस इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 के साइट नंबर-187बी का रिजर्व प्राइस 33,83,24,506 रुपये रखा गया था। इनमें से एक भी प्रॉपर्टी नहीं बिकी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!