राजेश ढल्ल, चंडीगढ़ : भारत-चीन सीमा विवाद की मौजूदा स्थिति पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं जम्मू-कश्मीर के प्रभारी राम माधव शुक्रवार को रक्षा विशेषज्ञों के साथ चंडीगढ़ में अहम बैठक करेंगे। यह बैठक दोपहर को सेक्टर-33 के पार्टी कार्यालय में होगी। बैठक में पूर्व थलसेनाध्यक्ष जनरल वीपी मलिक, पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा, रिटायर्ड मेजर जनरल एमएस कांडल, नवनीत कुमार, जनरल बीएस जसवाल सहित कुल सात रक्षा विशेषज्ञ शामिल होंगे। बैठक में स्थिति पर चर्चा करने के अलावा इस पर भी मंथन किया जाएगा कि आगे भारत को क्या करना चाहिए। बैठक के लिए चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद की ओर से पूर्व वायु सेना अध्यक्ष बीएस धनौआ से भी बात की गई थी। लेकिन धनौआ व्यस्त होने के कारण इस बैठक में नहीं आ पा रहे हैं। रिटायर्ड मेजर जनरल एमएस कांडल इस बैठक के लिए वर्चुअल जुड़ेंगे। बाकी सभी कमलम में फिजिकल तौर पर शामिल होंगे। सूद भी इस बैठक में मौजूद रहेंगे। सूद ने बैठक में भाग लेने वाले आर्मी अधिकारियों से वीरवार शाम खुद बात करके निमंत्रण दिया है। अभी भारतीय सेना चीन को करारा जवाब दे रही है। शुक्रवार को होने वाली बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। इस तरह की बैठक पहली बार भाजपा कार्यालय में हो रही है, जिसमें आर्मी अधिकारी भी भाग ले रहे हैं। राष्ट्रीय महासचिव राम माधव सभी रक्षा विशेषज्ञों से राय लेने के बाद इसकी रिपोर्ट हाईकमान को सौंपेंगे। बैठक में भाग लेने के लिए राम माधव दोपहर को फ्लाइट से चंडीगढ़ आ रहे हैं और शाम को वह वापस रवाना हो जाएंगे। राम माधव भी पहली बार भाजपा कार्यालय में बैठक के लिए आ रहे हैं। माधव का वर्चुअल वेबिनार भी रखा गया है, जिसमें वे भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इसके लिए चंडीगढ़ भाजपा की ओर से ऑनलाइन लिक भी शेयर किए गए हैं। भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद का कहना है कि माधव शुक्रवार को चंडीगढ़ आ रहे हैं। राम माधव को वर्चुअल सुनने के लिए भाजपा के कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं। भारत-चीन पर राम माधव ने काफी स्टडी की हुई है

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!