जेएनएन, कालका। रेल मंत्री पीयूष गोयल अचानक कालका रेलवे स्टेशन पहुंचे। सड़क मार्ग से कालका पहुंचे रेल मंत्री कालका में रेलवे द्वारा तैयार किए गए स्पेशल कोच विस्टाडोम में कालका से धर्मपुर के लिए रवाना हुए। इससे पहले कालका विधायक लतिका शर्मा ने उनका स्वागत किया। रेल मंत्री ने स्टेशन का निरीक्षण कर कोच बनाने के लिए अधिकारियों की प्रशंसा की।

उन्होंने कहा, ''पिछली बार मैं जब यहां पर आया था तो मैंने अधिकारियों से कहा था कि इस रूट के लिए नया कुछ किया जाए। मैंने 100 दिनों का समय दिया था, जिसमें यह कोच तैयार करने को कहा गया था। मुझे खुशी है कि यह कोच समय से पहले तैयार हो गया।'' उन्होंने कहा कि श्रीनगर समेत जहां-जहां नैरोगेज है वहां इस तरह के कोच बनाकर चलाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ पर्यटकों की सुविधा के चलते कुछ अन्य काम भी अधिकारियों को कहे गए थे, जिस पर काम चल रहा है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हर जगह जहां चुनाव हो रहे हैं, वहां पूर्ण बहुमत से भाजपा की सरकार आएगी। इस दौरान उनके साथ कालका विधायक लतिका शर्मा, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य युवा मोर्चा आदित्य शर्मा, भाजपा युवा जिला मोर्चा वरिष्ठ उपाध्यक्ष किशोरी शर्मा, अंबाला डीआरएम दिनेश शर्मा, वरिष्ठ डीसीएम प्रवीण गौर दिवेद्वी, रेलवे अधिकारी गोकुल समेत अन्य मौजूद रहे।

रेलमंत्री का स्वागत करतीं लतिका शर्मा।

राम मंदिर के हक में हूं

राम मंदिर को लेकर पूछे गए सवाल पर रेल मंत्री ने कहा कि मैं इस हक में हूं कि राम मंदिर वहीं बनना चाहिए। जल्द ही इस बारे में कार्य होने के आसार हैं। वहीं तेजस के बारे में पूछने पर रेल मंत्री ने कहा कि पहले ही काफी ट्रेन चल रही हैं। कालका से अमृतसर के लिए चलने वाली ट्रेन की बात को भी वह टाल गए।

स्पीड बढ़ाने का होगा प्रयास

रेल मंत्री गोयल ने कहा कि अभी विश्व धरोहर में शुमार कालका शिमला रेलवे लाइन पर चलने वाली ट्रेन से कालका से शिमला जाने में करीब 5 घंटे लगते हैं। इसे कम कर ट्रेन की स्पीड़ बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर सड़क मार्ग से आधा घंटा ज्यादा भी ट्रेन में लगेगा तो इस नेचर को दिखाने वाले कोच में जाना पर्यटक ज्यादा पसंद करेंगे।

एडवांस में करानी होगी बुकिंग

कालका-शिमला रेलवे लाइन पर चलने वाली गाड़ियों के डिब्बे लाल व पीले रंगों के हैं, लेकिन इस कोच का रंग उनसे अलग है। यह कोच वायलेट और सुनहरे रंगों से रंगा गया है। इसमें सफर करने के लिए पर्यटकों को एडवांस बुकिंग करवानी पड़ेगी। पर्यटकों की डिमांड को देखते हुए इस तरह के अन्य कोच भी तैयार किए जा सकते हैं।

क्या खास है विस्टाडोम में

यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखते हुए इसे वातानुकूलित बनाया गया है। इसके अलावा इस विस्टाडोम डिब्बे की छत शीशे से बनाई गई है, ताकि बाहर के प्राकृतिक दृश्यों का सभी तरफ से अवलोकन किया जा सके एवं प्राकृतिक सौंदर्य का समीप से आनंद लिया जा सके। इस पारदर्शी कोच में बैठकर पर्यटक कालका से शिमला तक आने वाली वादियों को चारों ओर से निहार सकेंगे।

इस डिब्बे के दरवाजों एवं खिड़कियों पर अतिरिक्त सुरक्षा के लिए कठोर शीशे का इस्तेमाल किया गया है एवं दरवाजों पर स्टील की रेलिंग लगाई गई है। सीटों पर अच्छे मनमोहक कवर का इस्तेमाल किया गया है। कोच के अंदर सुंदर दिखने वाली फ्लोरिंग व लाइटिंग की गई है एवं इसमें समय के साथ-साथ तापमान दिखाने वाली मशीन भी लगाई गई है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!