चंडीगढ़, राज्य ब्यूरो। शिरोमणि अकाली दलों (शिअद) में एकता के लिए कमेटी बनाने वाले पूर्व सांसद जगमीत बराड़ की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पार्टी की अनुशासन कमेटी ने उन्हें नोटिस जारी कर छह दिसंबर को पेश होने के लिए कहा है। दूसरी तरफ बराड़ ने गत वीरवार को जिन 11 लोगों को कमेटी का सदस्य घोषित किया था, उसमें से करीब आधा दर्जन नेताओं ने बराड़ पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं।

जगमीत बराड़ पर भी हो सकती है बड़ी कार्रवाई

वहीं, पार्टी का रुख देख कर लग रहा है कि बीबी जगीर कौर के बाद अब जगमीत बराड़ पर भी बड़ी कार्रवाई हो सकती है। पार्टी ने बराड़ को उस दिन कमेटी के सामने पेश होने के लिए कहा है, जिस दिन बीबी जगीर कौर ने कपूरथला में शिअद के कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई है। इसमें बराड़ ने भी शामिल होना है।

कमेटी के समक्ष व्यक्तिगत रूप से जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया

अनुशासन कमेटी के अध्यक्ष सिकंदर सिंह मलूका ने कहा कि पूर्व सांसद जगमीत बराड़ को छह दिसंबर को दोपहर 12 बजे पार्टी मुख्यालय में पार्टी विरोधी बयानों के लिए कमेटी के समक्ष व्यक्तिगत रूप से जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है। इस संबंध में शुक्रवार को अनुशासन कमेटी के अध्यक्ष ने जगमीत बराड़ को एक पत्र भेजा है। पत्र में कहा गया है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के लिए पूर्व सांसद के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की जा चुकी है। इसमें कहा गया है कि पूर्व सांसद को पहले जारी किए गए कारण बताओ नोटिस के जवाब में दिए गए जवाब पर कमेटी पहले ही असंतोष व्यक्त कर चुकी है।

कमेटी के 11 सदस्यों के नामों की थी घोषणा

बराड़ पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के अलावा अपनी कमेटी के गठन की प्रक्रिया भी जारी रखे हुए हैं। वहीं, दूसरी तरफ बराड़ ने जो कमेटी के 11 सदस्यों के नामों की घोषणा की थी उसमें से रविकरण सिंह काहलों ने स्पष्ट किया है कि जगमीत बराड़ द्वारा स्वयं बनाई कमेटी में उनका नाम कैसे और क्यों डाला गया, इस बात से वह हैरान हैं। वह शिरोमणि अकाली दल के वफादार सिपाही थे और सदा रहेंगे।

वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता अलविंदरपाल सिंह पखोके ने कहा है कि बराड़ द्वारा बनाई तालमेल कमेटी के साथ उनका कोई संबंध नही है, वह 45 साल से अकाली दल के वफादार सिपाही हैं तथा हमेशा रहेंगे। सुच्चा सिंह छोटेपुर ने भी बराड़ की कमेटी को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की है। उनका कहना है कि उनका इस कमेटी से कोई लेना-देना नहीं है।

यह भी पढ़ें- Sidhu Moose Wala Murder: गोल्डी बराड़ को भारत लाने की तैयारी, सीएम भगवंत मान बोले- अमेरिका से किया संपर्क

यह भी पढ़ें- पंजाब में भाजपा ने चला बड़ा दांव, कैप्टन अमरिंदर, सुनील जाखड़ और जयवीर शेरगिल को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट