चंडीगढ़ [निर्मल सिंह मानशाहिया]। आरएसएस नेता जगदीश गगनेजा पर पिछले दिनों जालंधर में हुए हमले के बाद पंजाब पुलिस सक्रिय हो गई है। पिछले 10 वर्षों के दौरान हुई आतंकी घटनाओं व गिरफ्तार किया गए आतंकियों का रिकॉर्ड एकत्र किया जा रहा है। इंटेलीजेंस विंग ने सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों से इस संबंध में खुफिया रिपोर्टें मंगवाई हैं।

उच्च स्तरीय सूत्रों के अनुसार डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने इंटेलीजेंस विंग को कहा है कि वह पिछले 10 सालों के दौरान पंजाब में पकड़े गए आतंकवादियों व इस दौरान हुई आतंकवादी वारदातों के बारे सभी जिलों से विवरण इकट्ठा करके रिपोर्ट उनको सौंपे। डीजीपी ने आरएसएस नेता रुलदा सिंह पर पटियाला में हुए हमले की भी जांच रिपोर्ट मांगी है। हालांकि डीजीपी सुरेश अरोड़ा और इंटेलीजेंस चीफ गौरव यादव ने इसे रूटीन की कार्रवाई बताया और इस पर कोई भी टिप्पणी करने से इन्कार किया।

पढ़ें : भारत-पाक सीमा पर हाई अलर्ट, वरिष्ठ अधिकारियों ने भी जमाया डेरा

दूसरी तरफ आरएसएस नेता पर हुए हमले की जांच में पुलिस को अभी तक हमलावरों के बारे में कोई बड़ा सुराग नहीं मिला है और जांच सिर्फ जालंधर और इसके साथ जुड़े शहरों की सीसीटीवी कैमरों की फुटेज पर टिकी हुई है।

स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर पंजाब में हाई अलर्ट

स्वतंत्रतता दिवस के मद्देनजर पंजाब भर में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने सभी जिलों के एसएसपी, आइजी जोन व पुलिस कमिश्नरों को अपने-अपने इलाकों में सख्त सुरक्षा प्रबंध करने के आदेश दिए हैं। डीजीपी दफ्तर से जारी आदेशों में उक्त अधिकारियों को कहा गया है कि वे शैक्षणिक स्थलों, अस्पतालों, बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, बाजारों व भीड़भाड़ वाले स्थानों पर पुलिस मुलाजिमों की गश्त बढ़ाई जाए।

जालंधर में पिछले दिनों आरएसएस नेता जगदीश गगनेजा पर हुए हमले के बाद पंजाब ने केंद्र से सीआरपीएफ की 15 कंपनियां मंगवाई थीं, जिन्हें पंजाब के विभिन्न शहरों में तैनात किया गया था। इन कंपनियों को अब 18 अगस्त तक पंजाब में रुकने के लिए कहा गया है। डीजीपी दफ्तर से मिली जानकारी अनुसार सूबे के बड़े शहरों अमृतसर, लुधियाना, जालंधर, मोहाली, पटियाला और बठिंडा में विशेष सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं।

पढ़ें : फोन कर पत्नी बोली-परांठे खाने आ जाओ, पति पहुंचा तो उड़ गए होश

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!