चंडीगढ़, इन्द्रप्रीत सिंह। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू सहित कोई भी कैदी पंजाब की जेलों से रिहा नहीं होगा। कारण यह है कि कैबिनेट ने अभी तक ऐसे किसी प्रस्ताव की फाइल राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को नहीं भेजी है। सूत्रों के अनुसार, जेल विभाग ने 51 कैदियों को रिहा करने के लिए सूची तैयार की थी, लेकिन इसे आगे नहीं बढ़ाया गया।

भारत जोड़ो यात्रा में होना था शामिल

26 जनवरी को रिहाई न होने के कारण नवजोत सिद्धू 30 जनवरी को श्रीनगर में खत्म होने वाली राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल नहीं हो पाएंगे। पार्टी हाईकमान ने उन्हें यात्रा में शामिल होने का न्योता दिया था। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ सिद्धू के रैली में शामिल होने की संभावना भी थी। सिद्धू 1988 में हुए रोडरेज मामले में पटियाला जेल में सजा काट रहे हैं।

गणतंत्र दिवस पर संभव नहीं कैदियों की रिहाई

पंजाब सरकार के एक उच्च अधिकारी ने कहा कि अब गणतंत्र दिवस पर कैदियों की रिहाई संभव नहीं है, क्योंकि उससे पहले कैबिनेट की कोई बैठक नहीं होनी है और मुख्यमंत्री भी निवेश सम्मेलन को लेकर व्यस्त हैं। अगली कैबिनेट बैठक पहले एक फरवरी को होनी थी और अब उसकी तिथि बदलकर तीन फरवरी कर दी गई है। सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री ने कैदियों की रिहाई में ज्यादा दिचलस्पी नहीं ली। इसके दो कारण माने जा रहे हैं।

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने फाइल को लौटाया

बीते स्वतंत्रता दिवस पर कैदियों को सजा में राहत देने संबंधी फाइल को राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने यह कहकर लौटा दिया था कि हर कैदी की फाइल अलग-अलग भेजी जाए, ताकि कैदी के जुर्म, सजा और जेल में उसके व्यवहार का पता चल सके। इस बार भी यह मुद्दा उठता, लेकिन समय कम होने के कारण सभी कैदियों की अलग-अलग फाइल बनाना संभव नहीं था। दूसरा कारण राजनीतिक था।

सिख बंदियों की रिहाई की मांग भी उठा सकते हैं विपक्षी दल

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, कैबिनेट की पिछली बैठक में कैदियों की रिहाई को लेकर हुई अनौपचारिक चर्चा में यह बात उठी थी कि अगर सिद्धू को समय पूर्व रिहा किया तो सिख बंदियों की रिहाई की मांग कर रहे शिरोमिण अकाली दल और एसजीपीसी मुद्दा बना देंगे। वे कहेंगे कि सजाएं पूरी कर चुके सिखों की रिहाई के लिए सरकार कोई प्रयास नहीं कर रही। इसके बाद इस मुद्दे को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के चुनावी वादे शुरू, सौ रुपये में सौ यूनिट बिजली योजना का दायरा बढ़ाने कही बात

Surgical Strike: दिग्विजय सिंह के सवाल पर बीजेपी का कटाक्ष, रविंदर रैना ने कहा-'कांग्रेस देशद्रोहियों का समूह'

Edited By: Mohd Faisal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट