चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। चुनावी वर्ष में ठेके पर काम कर रहे मुलाजिमों पर पंजाब सरकार मेहरबान होने जा रही है। लंबे समय से ठेके पर काम कर रहे मुलाजिमों को पक्का करने पर सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने बाकायदा चीफ सेक्रेटरी सर्वेश कौशल और मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी एसके संधू को प्रारूप तैयार करने को कहा है।

मुलाजिम संगठन लंबे समय से ठेका मुलाजिमों को पक्का करने की मांग कर रही है। प्रदेश में धरना-प्रदर्शन भी चल रहे हैं। शिक्षा व सेहत विभाग पर सरकार का विशेष ध्यान है। हालांकि, अन्य विभागों के मुलाजिमों को भी पक्का किया जाएगा। सूत्र की मानें तो मंगलवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में भी इस मामले पर गंभीरता से विचार किया गया।

पढ़ें : विदेशी कोच ने साजिश कर मेरा करियर खत्म कर दिया : रितु रानी

इसके बाद मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव सर्वेश कौशल और एसके संधू को निर्देश जारी किए। साथ ही यह भी कहा गया कि सभी विभागों के सचिवों से इस संबंध में रिपोर्ट ली जाए, किस विभाग में कितने मुलाजिम ठेके पर काम कर रहे हैं।

पढ़ें : कैप्टन के बेटे रण इंदर को ईडी का समन, 14 को हाजिर होने को कहा

सूत्र बताते हैं कि सरकार ऐसा प्रस्ताव बनाना चाहती है, जिससे लंबे समय से काम कर रहे ठेका मुलाजिमों को अधिक लाभ मिले। अगर ऐसा होता है तो इसका सबसे ज्यादा लाभ शिक्षा व सेहत विभाग को मिलेगा। दोनों विभागों में मुलाजिमों की संख्या सर्वाधिक है। सूत्र बताते हैं कि सरकार यह फैसला इसलिए भी करना चाहती है ताकि मुलाजिम वर्ग पर पकड़ मजबूत हो। साथ ही मुलाजिमों में यह संदेश जाए कि सरकार उनके हितों की रक्षा करती है।

जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए हैं कि प्रस्ताव बनाते समय सभी पक्षों का न सिर्फ ध्यान दिया जाए बल्कि इस पर तेजी से काम किया जाए। ताकि चुनाव में इसका लाभ मिल सके। प्रस्ताव तैयार होने के बाद ही सरकार इस पर फैसला करेगी कि यह कदम उठाया जाए या नहीं। वहीं, सूत्र यह भी बताते हैं कि सरकार इसके अलावा उन मुद्दों पर भी विचार कर रही है जिससे चुनाव में लाभ मिल सके। इन मुद्दों को भी चिह्नित करने के निर्देश हैं।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!