जेएनएन, चंडीगढ़। Punjab Budget 2020: डॉक्टरों की कमी से जूझ रहे स्वास्थ्य विभाग ने निचले स्तर तक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने के लिए 2950 उप केंद्रों को तंदरुस्त पंजाब स्वास्थ्य केंद्रों के रूप में विकसित करने का प्रारूप तैयार किया है। यह केंद्र 2022 तक विकसित किए जाएंगे। वहीं, जिला अस्पतालों को इनटेंसिव केयर यूनिट्स (ICU) से लैस किया जाएगा। वहीं, जांच के दायरे को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विभाग निजी लैबों के साथ समझौता करके सटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड जैसे टैस्ट भी उचित दरों पर करवाए जाएंगे।

आयुष्मान भारत सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना की सफलता को देखते हुए बजट में इसका दायरा बढ़ा दिया गया है। पिछले वर्ष 146.16 करोड़ रुपये की लागत से 1,27,619 रोगियों का इलाज किया गया था। इस बात बजट में 221 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। वहीं, सभी जिला अस्पतालों में ICU स्थापित करने के लिए वित्तमंत्री ने 15 करोड़ रुपये के फंड का प्रावधान किया है। वहीं, जिला अस्पतालों में निजी लैबों के साथ मिलकर सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड मशीन जैसी डायगनास्टिक सुविधाएं और कुछ जिला अस्पतालों में एमआरआई एवं कैथ लैब स्थापित करने की भी योजना है।

इन योजनाओं पर किया फोकस

  • हेपेटाइटिस-सी के रोगियों को निशुल्क दवाएं देने के लिए 75 करोड़ रुपये रखे गए।
  • उप केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अपग्र्रेड, मरम्मत और रखरखाव के लिए 50 करोड़ रुपये का प्रबंध किया गया।
  • खरड़, फगवाड़ा, जगराओं, बुढलाडा, मलोट, गिद्दड़बाहा के उप विभागीय अस्पतालों में नए एमसीएच विंग्स का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए 38 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।
  • थैलेसीमिया के रोगियों को आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रदान करने के लिए एक थैलेसीमिया केंद्र लुधियाना में सरकारी आयुर्वेदिक अस्पताल माडल ग्राम में स्थापित किया जाएगा।
  • साहिबजादा अजीत सिंह नगर में बनने वाले मेडिकल कालेज के निर्माण कार्यों के लिए 157 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इस मेडिकल कालेज में शिक्षण 2020-21 सत्र से शुरू होगा।
  • कपूरथला- होशियारपुर में नए मेडिकल कालेजों की स्थापना के लिए 10 करोड़ रुपये का प्रारंभिक आवंटन प्रस्तावित है। इन कालेजों में शिक्षण सत्र क्रमश: 2021-22 और 2022-23 में शुरू होना है। इस वर्ष 897 करोड़ रुपये आरक्षित किए गए है।
  • फिरोजपुर में पीजीआइ के सेेटेलाइट सेंटर स्थापना शुरू करने, पटियाला, अमृतसर और फरीदकोट मेडिकल कालेज के लिए 224 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है।
  • फाजिल्का में कैंसर केयर सेंटर और अमृतसर में स्टेट कैंसर इंस्टीच्यूट को इसी साल पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए 72 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!