जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा में बजट पर बहस के दौरान सदन में जमकर हंगामा हुआ। वित्त मंत्री मनप्रीत बादल जैसे ही प्रताप सिंह कैरों के मुख्यमंत्रित्व काल की तुलना प्रकाश सिंह बादल के मुख्यमंत्रित्व काल से की उसी समय सुखबीर बादल अपनी सीट से खड़े हो गए। इसके बाद मनप्रीत बादल व सुखबीर बादल में जमकर बहस हुई।

मनप्रीत ने कहा कि प्रताप सिंह कैरो 8 साल 5 माह पंजाब के मुख्यमंत्री रहे। लोग आज तक उनको याद करते हैं। प्रकाश सिंह बादल 10 साल 10 दिन मुख्यमंत्री रहे, लेकिन उन्हें कोई याद नहीं करता है। मनप्रीत ने कहा कि काम बोलता है ना की ज्यादा समय बिताना। इस पर सुखबीर बादल ने कहा कि जिन बादल साहब की वजह से मनप्रीत आज कुर्सी पर बैठे हैं, उनके बारे में गलत बोलने वाला इससे गलत आदमी कोई नहीं हो सकता।

मनप्रीत ने कहा कि अगर बादल की मेहरबानी होती आज यहां नहीं होता। इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को आंख दिखानी शुरू कर दी। इसके बाद अकाली दल और कांग्रेस के विधायक शोर मचाने लगे। स्पीकर ने हाउस को 15 मिनट के लिए स्थगित कर दिया।

अमृतसर रेल हादसे पर भी सदन में हंगामा

इससे पूर्व, विधानसभा में अमृतसर रेल हादसे में काल एटेंशन को लेकर भी हंगामा हुआ। बिक्रम सिंह मजीठिया ने स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला करते हुए कहा कि सिद्धू ने घोषणा की थी की पीड़ित परिवारों को नौकरी दी जाएगी, जिसके बाद सिद्धू ने कहा कि मैं 8 परिवारों को अपनी जेब से 8000 रुपये महीना दे रहा हूं। पंजाब में इससे पहले भी कई हादसे हुए क्या मजीठिया ने 8 रुपये भी दिए।

सुखबीर बादल में कैप्टन अमरिंदर सिंह से पूछा कि इतना बड़ा हादसा हुआ, जिसमें 61 लोग मारे गए एक भी दोषी को क्या जेल भेजा गया। जिस पर कैप्टन ने कहा कि ऑर्बिट बस से भी लोग कुचलकर मरे हैं क्या किसी दोषी को जेल भेजा गया। इस पर सुखबीर ने जवाब दिया कि सभी ड्राइवरों को जेल भेजा गया था। इसके बाद अकाली दल के विधायक वेल में आकर नारेबाजी करने लगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!