जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : पंजाब यूनिवर्सिटी कैंपस में कई दिनों से छात्र संगठनों के कड़े विरोध के बाद आखिरकार पीयू प्रशासन ने बुधवार रिसर्च स्कॉलर के साथ ही अन्य सभी स्टूडेंट्स को भी एसी जोशी लाइब्रेरी में एंट्री की अनुमति दे दी है। साथ ही अब पीयू के सभी विभागों की लाइब्रेरी भी स्टूडेंट्स के लिए खुल जाएंगी।

बीते कई दिनों से स्टूडेंट्स फॉर सोसायटी (एसएफएस) सहित अन्य छात्र संगठन पीयू लाइब्रेरी में सभी स्टूडेंट्स को एंट्री देने की मांग को लेकर धरने पर बैठे थे। मामले को लेकर पीयू प्रशासन और छात्र संगठनों के बीच काफी तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई थी। बुधवार दोपहर को लाइब्रेरी में एंट्री को लेकर पुलिस और छात्र संगठनों के बीच काफी कहासुनी हुई। आखिर पीयू के उच्च अधिकारियों ने मामले को बिगड़ता देख पीयू लाइब्रेरी को 50 फीसद कैपेसिटी के साथ स्टूडेंट्स को एंट्री देने का फैसला किया। शाम को इस संबंध में नोटिस भी जारी कर दिया। लाइब्रेरी को लेकर नए निर्देश

पीयू एसी जोशी लाइब्रेरी का आउटर हॉल सुबह आठ से शाम नौ बजे तक खुलेगा। सीटों के मुकाबले 50 फीसद स्टूडेंट्स को ही एंट्री दी जाएगी। लाइब्रेरी के पहले और तीसरे फ्लोर पर रिसर्च स्कॉलर को ही एंट्री मिलेगी। यहां पर सुबह नौ से शाम आठ बजे तक एंट्री मिलेगी। लाइब्रेरी कार्ड और कोविड-19 एसओपी को फोलो करने वाले स्टूडेंट्स को ही एंट्री मिलेगी। क‌र्फ्यू और लाकडाउन होने पर लाइब्रेरी बंद रहेगी। सभी विभागों की लाइब्रेरी में विभाग के स्टूडेंट्स को एंट्री मिलेगी।

Edited By: Jagran