चंडीगढ़, जेएनएन। कोरोना वायरस के कारण चीन से शिफ्ट होने वाले उद्योगों पर पंजाब की नजर टिकी हुई है। राज्य में औद्योगिक विकास और इन औद्योगिक इकाइयों को राज्‍य में लाने के लिए पंजाब सरकार भारत में जापान, कोरिया, ताइवान के दूतावासों के संपर्क में है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फेसबुक पर ‘कैप्टन को सवाल ’ नाम के लाइव प्रोग्राम के दौरान दी। वहीं, कैप्टन ने स्पष्ट किया कि पंजाब में बाहर से आने वाले हरेक व्यक्ति को 14 दिन का होम क्‍वारंटाइन में रहना होगा। चाहे वह विदेश से आए हों या दूसरे राज्यों से।

घरेलू उड़ानों, रेलगाडिय़ों और बसों से आने वाले घरों में 14-दिन एकांतवास में रहना पड़ेगा

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार विभिन्न मुल्कों के दूतावासों तक ज़ोरदार ढंग से पहुंच कर रही है, जो मुल्क चीन से बाहर अपने मैनुफ़ेक्चरिंग व कारोबार को शिफ्ट करने की कोशिश में हैं। उन्होंने बताया कि राज्य के विभिन्न दूतावासों के साथ बातचीत चल रही है और उनको ज़मीन, बुनियादी ढांचा और अन्य सुविधाओं के रूप में सहयोग के लिए हर संभव पेशकश की जा रही है।

कैप्‍टन अमरिंदर सरकार जापान, कोरिया और ताईवान के दूतावासों के संपर्क में

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि कोरोना संकट के बाद राज्य की अर्थव्यवस्था को फिर पैरों पर खड़ा करने के संदर्भ में उनकी सरकार ने विभिन्न मुल्कों के दूतावासों को पत्र लिखे हैं। सरकार भारत में जापान, कोरिया और तायवान के दूतावासों के साथ बातचीत में जुटी हुई है।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई को दिया मिशन फतह का नाम

मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना के खि़लाफ़ लड़ाई को ‘मिशन फ़तेह’ का नाम दिया। उन्होंने कहा कि ‘इस लड़ाई में हमारी भावना और दृढ़ता की झलक दिखाई पड़ती है। ख़तरनाक वायरस के खि़लाफ़ हम सामाजिक दूरी के नियमों को अपना कर फ़तेह हासिल करेंगे।’ उन्होंने कहा कि यह राष्ट्रीय जंग है जिसको सामुहिक दृढ़ता के साथ जीता जा सकता है और हम जीतेंगे।

कैप्‍टन अमरिंदर ने लोगों से कहा कि पूरी तरह सचेत रहने की ज़रूरत है। बड़ी संख्या में पंजाबी घर लौट रहे हैं और अधिक से अधिक निवेश कर राज्य में अपना कारोबार फिर शुरू करने में रुचि दिखा रहे हैं। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहरी मुल्कों और राज्यों से वापस आ रहे पंजाबियों के यहां लौटने से रोग के फैलाव की संभावना है। इसकी रोकथाम के लिए राज्य सरकार कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रही है।

उन्‍होंने कहा कि लौटने वाले हर व्यक्ति की टेस्टिंग और एकांतवास के लिए उचित प्रबंध किए गए हैं। पांच उड़ानें आज पहुंची हैं और विदेशों से 88 उड़ानों से 20,000 लोगों की वापसी की संभावना है। दूसरे राज्यों से करीब 60,000 पंजाबियों के वापस आने की संभावना है। उन्होंने स्पष्ट रूप में कहा, ‘मैं पंजाब में इस रोग को और फैलने नहीं होने दूंगा।

मुख्यमंत्री ने कामगारों का भी धन्यवाद किया जिन्होंने वापस जाने की बजाय यहां रुक कर पंजाब की आर्थिक मज़बूती में अपना योगदान डालने का रास्ता चुना। उन्होंने कहा, ‘यह आपका राज्य है और आप इसका हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि यह ज़रूरी है कि उद्योग का कामकाज चले जिससे रोजग़ार को यकीनी बनाया जा सके। उन्होंने सभी को काम वाले स्थानों पर सामाजिक दूरी के नियमों की सख्ती से पालना करने की अपील की जिससे हर कदम पर वायरस को हराया जा सके। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा, जिस ढंग से हम स्थिति पर काबू पा चुके हैं, हमें दोबारा सख्ती से लॉकडाउन की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

मुख्यमंत्री अमरिंदर ने खुलासा किया कि गृह राज्य में जाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने वाले प्रवासी मज़दूरों में से लगभग आधे मज़दूरों ने यहीं रुकने का फ़ैसला किया है और उन्होंने उद्योगों में फिर काम करना शुरू कर दिया है। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य में 2.56 लाख उद्योग में से 1.5 लाख उद्योगों ने काम करना शुरू कर दिया है।

कैप्‍टन अमरिंदर ने चेतावनी देते हुए कहा कि स्थिति को काबू में रखने के लिए सामाजिक दूरी और मास्क को ज़रूरी तौर पर पहनने के नियमों को सख्ती से अपनाने की ज़रूरत है। उनकी तरफ से इन नियमों का उल्लंघन करने वालों के खि़लाफ़ सख्त कार्रवाई करने के लिए पुलिस को निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: पीपीई किट्स पर भ्रष्टाचार की धूल, महंगे दाम पर घटिया किट्स की खरीद का बड़ा खेल


यह भी पढ़ें: अमेरिका से अमृतसर आए 167 लोगों में अलकायदा का खतरनाक आतंकी भी, खुलासे से हड़कंप



यह भी पढ़ें: अमृतसर से अमेरिका तक लोगाें की जुबां पर होगा मोगा, साेनू सूद व विकास खन्‍ना ने बढा़ई शान

 

यह भी पढ़ें: अमेरिका में गिरफ्तार किए गए 167 लोग अमृतसर पहुंचे, देखें पंजाब व हरियाणा के लाेगों की List

 

यह भी पढ़ें: वंडर गर्ल है म्‍हारी जाह्नवी, दुनिया भर के युवाओं की आइकॉन बनी हरियाणा की 16 की लड़की 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!