जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। कोरोना महामारी के बाद शहर के सभी कालेज खुल चुके हैं। सभा कालेजों में ऑफलाइन पढ़ाई हो रही है। हालांकि कोरोना नियमों के साथ स्टूडेंट्स क्लास के लिए आ रहे हैं और उन्हीं स्टूडेंट्स को कॉलेज बुलाया गया है जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है। ऐसे में अब कालेज में पढ़ाई दो साल पहले की तरह शुरू हो गई है और विभिन्न प्रकार की एक्टीविटी भी शुरू हो गई है। कॉलेजों में पहले की तरह रौनक लौट आई है।

दो साल के बाद यूथ फेस्टिवल 25 नवंबर से शुरू होगा, जिसमें शहर के सभी कालेज भाग ले सकेंगे। यूथ फेस्टिवल की डेट जारी होने के साथ ही रिहर्सल भी कालेज में शुरू हाे गई है। भंगड़ा, गिद्दा से लेकर स्किट और प्ले के लिए तैयारियां हो रही है। जिसमें सेकेंड और फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स भाग ले रहे है।

यूथ फेस्टिवल के हर फेस्ट का होगा आयोजन

डीएवी कालेज सेक्टर-10 यूथ फेस्टिवल काेआर्डिनेटर सुरिंदर कुमार ने बताया कि यूथ फेस्टिवल में पहले की तरह हर एक्टीविटी होगी। इस बार की एक्टीविटी में सेकंड और फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के साथ मास्टर डिग्री कर रहे स्टूडेंट्स भाग ले रहे हैं। इस बार की तैयारी में थोड़ा बदलाव जरूर है कि ज्यादा स्टूडेंट्स को रिहर्सल के लिए नहीं बुला रहे है। गिने-चुने स्टूडेंट्स को ही स्टेज पर बुलाया जा रहा है ताकि नियमों का पालन करते हुए रिहर्सल हो।

स्टूडेंट्स के लिए यूथ फेस्टिवल अहम

डीएवी कालेज सेक्टर-10 के प्रिंसिपल डॉ. पवन शर्मा ने कहा कि दो साल से स्टूडेंट्स पूरी तरह से घरों में बंद थे। यूथ फेस्टिवल स्टूडेंट्स के लिए अहम है क्योंकि इस फेस्टिवल से एक-दूसरे से मिलने के साथ ताजगी का अहसास देगी।

Edited By: Ankesh Thakur