जेएनएन, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मिशन 2022 को लेकर रणनीति तैयार करनी शुरू कर दी है। पंजाब में 2017 में कांग्रेस को जोरदार एकतरफा जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) को एक बार फिर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साथ जोड़ लिया है। उन्हें अपना प्रधान सलाहकार नियुक्त किया है।

पिछली बार प्रशांत किशोर की रणनीति कैप्टन को धमाकेदार जीत दिलाने में सफल रही थी, लेकिन इस बार उन्हें कई चुनौतियों को सामना करना पड़ेगा। 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को एक ब्रांड के रूप में उभारने में अहम भूमिका अदा की थी। 'काफी विद कैप्टन', 'चाहूंदा है पंजाब, कैप्टन दी सरकार' जैसे नारों को देने वाले प्रशांत किशोर की करीब छह सौ प्रोफेशनलों की टीम तब जुटी थी। तब प्रशांत के सामने सबसे बड़ी चुनौती पंजाब में कैप्टन की महाराजा वाली कड़क छवि को खत्म करने की थी, जिसमें वह सफल रहे। अब पंजाब में चुनाव के लिए एक वर्ष से कम रह गया है। इस बार सरकार के सामने चुनौती होगी कि वह कैसे दोबारा लोगों का विश्वास हासिल करे।

प्रशांत किशोर की चुनौतियां

  • 2017 में तीन पार्टियां चुनाव मैदान में थी तो अब की बार चार पार्टियां होंगी।
  • 2017 में कांग्रेस ने किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ करने का वादा किया था। वह नहीं हुआ।
  • तब कैप्टन ने सबसे बड़ा वादा किया था कि चार सप्ताह में नशा खत्म करने का, जोकि नहीं हुआ।
  • घर-घर नौकरी देने का, उस पर भी सवाल उठ रहे है।
  • बेरोजगारों को 2500 रुपये भत्ता देने का। वह भी नहीं दिया गया।

यह भी पढ़ें: पंजाब के बठिंडा में आकर्षण का केंद्र बना सड़कों पर दौड़ता प्लेन, जानें क्या है माजरा 

एक रुपये वेतन लेंगे प्रशांत

प्रशांत किशोर की नियुक्ति को लेकर सरकार ने अधिसूचना भी जारी कर दी है। प्रशांत किशोर सरकार से एक रुपया तनख्वाह लेंगे। उन्हें सरकारी आवास के अलावा अन्य सुविधाएं मिलेगी। ट्रेन मेें उन्हें एग्जीक्यूटिव क्लास से यात्रा की सुविधा मिलेगी तो हवाई यात्रा के दौरान उन्हें मंत्रियों वाली सुविधाएं मिलेंगी। गत वर्ष भी प्रशांत किशोर के कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ जुडऩे की चर्चा हुई थी। तब कैप्टन ने कहा था कि प्रशांत किशोर हमारी मदद करेंगे। उनसे कांग्रेस के लिए चुनावी रणनीति बनाने पर बात की है और इस पर प्रशांत किशोर ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। अब कैप्टन ने ही यह ट्वीट किया है कि प्रशांत उनके साथ जुड़ गए हैं।

यह भी पढ़ें: पांच साल से शुगर मिल को नहीं बेचा गन्ना, पंजाब के इस किसान ने सिरका बना की दस गुणा कमाई

पंजाबियों के जख्मों पर नमक छिड़का: शिअद

अकाली दल के विधायक बिक्रम सिंह मजीठिया का कहना है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जुमलेबाज प्रशांत किशोर को अपना प्रमुख सलाहकार नियुक्त कर पंजाबियों के जख्मों पर नमक छिड़का है। इससे यह स्पष्ट हो गया कि कांग्रेस एक बार फिर से नए झूठ गढ़ने और लोगों को दोबारा मूर्ख बनाने के प्रयास में है। पंजाबी अब इन हथकंडों में नही आएंगे।

कैप्टन ने खुद को विफल साबित किया : भाजपा

भाजपा पंजाब के प्रवक्ता दीवान अमित अरोड़ा ने कहा कि कैप्टन ने प्रशांत किशोर को अपना विशेष सलाहकार बनाकर अपनी व अपने मंत्रिमंडल की काबलियत पर सबसे बड़ा प्रश्नचिन्ह खड़ा किया है और यह साबित कर दिया है कि वह हर मोर्चे पर विफल साबित हुए हैं। यह भी साफ हो गया है कि उनकी सलाहकारों की फौज भी बेकार साबित हुई है।

यह भी पढ़ें: सर्वाधिक गरीब एक लाख परिवारों को ढूंढेगी हरियाणा सरकार, मिलेगा ब्याज रहित लोन

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप