चंडीगढ़, जेएनएन। शहर में पानी के बढ़े हुए रेट्स पर भाजपा और कांग्रेस में राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस ने प्रदर्शन से पहले भाजपा नेताओं द्वारा जारी किए गए बयान पर चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चावला ने भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद को पत्र लिखा है। लिखे गए पत्र में चावला ने कहा है कि अगर इस प्रदर्शन को रोकने के लिए भाजपा के कार्यकर्ता उन पर हमला भी करेंगे तो भी वह गांधीगिरी दिखाते हुए अपना सिर उनके आगे कर देंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा है कि आप और आपकी पार्टी के कार्यकर्ता भी मानते हैं कि जो पानी की रेट बढ़ाएं गए हैं। वह सही नहीं है। जनता पर बहुत भारी बोझ है। आज हमने तय किया है कि हम आपके सेक्टर में जहां पर आपके साथ दो और काउंसलर रहते हैं हम आपके और आपके साथ के काउंसलर को मिलकर एक छोटा सा मांगपत्र जो चंडीगढ़ की जनता के द्वारा है आप को सौंप दें, लेकिन मुझे थोड़ा आश्चर्य हुआ कि जब आज आपकी पार्टी की तरफ से कुछ ऐसे संदेश सोशल मीडिया में डाले गए, जिसमें हमें आपने और आपकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मुझे और मेरी पार्टी को स्वार्थी तत्व तक कह दिया। हम आपके घर बीजेपी अध्यक्ष के नाते नहीं निगम पार्षद के नाते ही आ रहे हैं। इस पानी के दामों बढ़ोतरी में नगर निगम में आपके भाजपा के पार्षद ही दोषी हैं। अगर आप नहीं चाहते कि हम आपके घर आए तो आप बता दीजिए कि आप सेक्टर-37 में आप कहां हमसे आकर हमारा मांगपत्र ले सकते हैं।

मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैं और हमारी पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता प्रधानमंत्री, बीजेपी पार्टी और आपके के खिलाफ कोई भी आपत्तिजनक नारा नहीं लगाएंगे। अगर आप सही मायनों में इस पानी के बढ़े दामों के खिलाफ हैं तो मेरी प्रार्थना है कि आइए हम दोनों मिलकर इस बढ़ोतरी के खिलाफ चंडीगढ़ प्रशासन के खिलाफ लड़ाई लड़ें और इससे जनता को राहत दिलवाई। हमने आपके पार्टी के सभी 20 पार्षदों  के घर अलग-अलग दिन जाकर रोज पत्र सौंपे  है। अगर वह नहीं चाहते कि हम उनके घर जाएं तो वही हमें सूचित कर दें कि हम उनको कहां जाकर मांग पत्र दे सकते हैं। आज आपके पार्टी के कुछ नेताओं द्वारा धमकियां दी जा रही हैं हम कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को सेक्टर-37 में नहीं घुसने देंगे यह लोकतंत्र की भावनाएं खिलाफ है।

उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ मेरा और आप सब का है यह हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है कि हम जनता की आवाज को जोर-शोर से उठाएं हम सेक्टर 37 में इकट्ठे हो रहे हैं अगर आप के कार्यकर्ता हमें मारेंगे हमें पर हमला करेंगे तो भी हम अपना सिर झुका कर उनके सामने बैठ जाएंगे। हम गांधीवादी विचारधारा के लोग और शांतिपूर्ण ढंग से इस आंदोलन को जारी रखेंगे।

Edited By: Ankesh Kumar