चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। पंजाब में जहरीली शराब से 116 लाेगों की मौत से हड़कंप मचा हुआ है। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार पूरे मामले को लेकर विपक्ष के निशाने पर ह‍ै। राज्‍य में इस मामले पर राजनीति चरम पर पहुंच गई है। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के साथ आम आदमी पार्टी (AAP) भी कैप्‍टन सरकार पर हमलावर हो गई है। आप ने पंजाब में कई जगहों पर प्रदर्शन किया। इसके साथ ही इस मामले को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह आपस में भिड़ गए हैं। केजरीवाल ने सीबीआइ जांच की मांग की तो कैप्‍टन अमरिंदर ने उनको खूब खोटी सुनाई। केजरीवाल के साथ ही आप के पंजाब प्रधान भगवंत मान ने भी पंजाब सरकार पर हमला किया।

केजरीवाल ने कहा, सीबीआई जांच हो, कैप्टन का जवाब- आपको कोई शर्म-हया है

अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में नकली शराब पीने से हुई मौतों को लेकर सीबीआइ जांच की मांग की। इस पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पलटवार किया। उन्‍होंने केजरीवाल को कहा कि अपने काम के काम रखो। बहुत सी मौतें हो गई है। इस पर आप राजनीतिक लाभ कमाना चाहते हो। क्या आपको कोई शर्म-हया है? दोनों के बीच टिवटर वार चला।

 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को पंजाब में औंधे मुंह गिर चुकी आम आदमी पार्टी को फिर से पैरों पर खड़ा करने के लिए इस तरह की बात कर रहे हैं। केजरीवाल इस दुखद मामले पर राजनीतिक रोटियां न सेकें। कैप्टन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को अपने राज्य में अमन-कानून की व्यवस्था पर ध्यान देने के लिए कहा जहां अपराधी और गैंगस्टर बेखौफ होकर वहां की गलियों में दनदनाते हुए घूमते हैं।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा- अपने काम से काम रखें केजरीवाल, पंजाब पुलिस कर रही ह‍ै कार्रवाई

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्थानीय पुलिस द्वारा पिछले कुछ महीनों के दौरान अवैध शराब का कोई भी केस हल नहीं किया गया है। इस पर कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि केजरीवाल फिजूल बातें कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि आप नेता को कुछ भी बोलने से पहले अपने तथ्य जांच लेना चाहिए। कैप्‍टन अमरिंदर ने हाल ही में 22 अप्रैल को खन्ना में अवैध शराब की एक फैक्ट्री का पर्दाफाश किए जाने का हवाला दिया। कैप्टन ने कहा कि पुलिस कार्रवाई  कर रही है और आइ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और सात अन्य भगोड़े व्यक्तियों को पकड़ने के लिए छापेमारी जारी है।

कैप्‍टन अम‍रिंदर ने कहा किक एक अन्य मामले में पटियाला जिले में अवैध शराब की डिस्टिलरी चलाने के पीछे के दो सरगनों को 22 मई और 13 जून को इसी साल गिरफ्तार किया गया। 10 जुलाई को अदालत में चालान पेश किया गया। मई महीने में ऐसे ही एक अन्य मामले का माफिया सरगना को गिरफ्तार करके पर्दाफाश किया गया। उसके खिलाफ अगली कार्यवाही के लिए रसायन अध्ययन रिपोर्ट का पुलिस द्वारा इंतजार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केजरीवाल द्वारा सीबीआइ जांच की मांग राजनीतिक ड्रामेबाजी के अलावा कुछ नहीं। इसके पीछे उनकी मंशा अपनी पार्टी के उखड़े पैर फिर से जमाने का प्रयास है, जो मुख्य विरोधी पार्टी होने के बावजूद पंजाब में अपना अस्तित्व पूरी तरह गंवा चुकी है। कैप्टन ने कहा कि कांट्रेक्ट किलिंग के मामले सीबीआइ को जांच सौंपे होने के बावजूद यह पंजाब पुलिस ही थी जिसने इनको हल किया। यहां तक कि बेअदबी मामलों में सीबीआइ असफल रही है और यह पंजाब पुलिस ही है जो मामलों के तथ्य सामने ला रही है।

कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि वह उन सभी व्यक्तियों के खिलाफ जल्द कड़ी कार्रवाई चाहते हैं, जिनके लालच के कारण राज्य में 100 के करीब जान गई हैं। मुख्यमंत्री अमरिंदर ने केजरीवाल से कहा कि वह पंंजाब सरकार पर गलत आरोप लगाने से पहले अपने राज्‍य के आंकड़े चेक कर लें। उन्होंने केजरीवाल से कहा, ‘आप हमारे कामकाज पर टिप्पणी करने से पहले अपनी पंजाब यूनिट को कहकर तथ्य और आंकड़े क्यों नहीं मंगवाते।’

कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि वह पहले अपने राज्य दिल्‍ली में कोविड की भयानक स्थिति पर ध्यान केंद्रित करें। मुख्यमंत्री ने कोविड के खिलाफ लड़ाई के लिए केजरीवाल को शुभकामनाएं देते हुए कहा, ‘पंजाब मामलों संबंधी चिंता करने की बजाय पहले आप दिल्ली के लोगों की सेहत और जिंदगी का ख्याल क्यों नहीं कर रहे।’ कैप्टन ने कहा कि इस दुखद घटना में तीन जिलों में पांच केस दर्ज करते हुए 30 व्यक्तियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके अलावा पंजाब पुलिस और आबकारी एवं कर विभाग के 13 कर्मियों को ड्यूटी में लापरवाही के दोष में सस्पेंड किया गया है।

अकालियों ने चिट्टे से तबाह किया, कांग्रेसी जहरीली शराब बेच रहे : मान

दूसरी तरफ  उधर आप ने लुधियाना सहित पंजाब के कई शहरों में जहरीली शराब मामले के विरोध में प्रदर्शन किया। आप के सांसद व प्रदेश प्रधान भगवंत मान ने तरनतारन और अमृतसर में जाकर पीड़ित परिजनों से मुलाकात की। मान ने कहा कि  लोग स्पष्ट कह रहे हैं कि जहरीली शराब के कारोबार में मौजूदा सियासतदानों व उनके करिंदों का हाथ है। गांव पंडोरी गोला में आठ से दस लोग अवैध शराब की सप्लाई का काम करते हैं, जबकि पुलिस ने सिर्फ एक ही व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की।

मान ने कहा कि मौजूदा हालात में कांग्रेस नेता इन गांवों में आने से परहेज कर रहे हैं। पहले अकालियों ने चिट्टे से गांवों के नौजवानों की जवानी तबाह की अब कांग्रेसी शराब के रूप में जहर बांट रहे हैं। अवैध शराब का कारोबार राजनेताओं व पुलिस की मिलीभगत के बगैर चलना संभव नहीं है। वहीं,  आप के कार्यकर्ताओं ने पंजाब के सभी विधानसभा क्षेत्रों में प्रदर्शन किया। सत्ता पक्ष भले ही दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने का भरोसा दे रही हो लेकिन विपक्ष ने इस मुद्दे को धार देना शुरू कर दिया है। 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!