जेएनएन, चंडीगढ़। बीते हफ्ते सांसद विनोद खन्ना के निधन के चलते खाली हुई गुरदासपुर लोकसभा सीट के लिए सभी प्रमुख दलों को नए चेहरों की तलाश रहेगी। हालांकि अभी इस उपचुनाव संबंधी कोई आधिकारिक सूचना चुनाव आयोग ने जारी नहीं की है। लेकिन माना जा रहा है कि अगस्त-सितंबर में इस हलके का उपचुनाव होगा।

खन्ना के विकल्प के तौर पर भाजपा को इलाके के किसी कद्दावर नेता को यहां उतारना होगा। स्थानीय नेता स्वर्ण सलारिया पहले भी टिकट के लिए जोर-आजमाइश करते रहे हैं। इलाके में न केवल उनकी अच्छी पैठ है बल्कि विधानसभा चुनाव लड़ने वाले कई पार्टी उम्मीदवारों की भी वह मदद करते रहे हैं। हालांकि पार्टी द्वारा एक बार फिर किसी फिल्मी हस्ती को गुरदासपुर से चुनाव लड़ाने से इन्कार नहीं किया जा सकता।

यह भी पढ़ें: विदेश मंत्रालय की संसदीय कमेटी ने सुनीं लोगों की समस्याएं

दूसरी ओर कांग्रेस को भी पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशी रहे प्रताप सिंह बाजवा की जगह किसी अन्य प्रत्याशी पर दांव खेलना होगा। हालांकि बाजवा 2009 में विनोद खन्ना के मुकाबले इसी सीट पर जीते थे।लेकिन अब वह राज्यसभा सदस्य हैं। इसलिए लोकसभा चुनाव के लिए उन्हें पार्टी शायद ही प्रत्याशी बनाए। माना जा रहा है कि पार्टी किसी विधायक को यहां से लोकसभा चुनाव लड़ा सकती है।

कमोबेश ऐसा ही कुछ आम आदमी पार्टी को भी करना पड़ सकता है। पिछले चुनाव में सुच्चा सिंह छोटेपुर ने आप के टिकट पर गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन बाद में केजरीवाल और कथित बाहरी नेताओं के पंजाब में दखल का विरोध करने के कारण उन्हें पार्टी से अलग होना पड़ा था। अब उन्होंने अपना पंजाब पार्टी बनाई है, जिसने हाल ही में विधानसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि छोटेपुर द्वारा लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना कम ही है।

यह भी पढ़ें: अरोड़ा ने सिद्धू के विज्ञापन में काम करने पर जताई आपत्ति, भेजा लीगल नोटिस

यह भी तय है कि आम आदमी पार्टी भी पहले की तरह इस लोकसभा उपचुनाव से दूरी ही बनाएगी। वह पहले भी विधानसभा उपचुनाव लड़ने से कतराती रही है। वैसे भी आप में जो उठापटक इस समय चल रही है और पंजाब के नेताओं द्वारा जिस तरह से दिल्ली के नेताओं को आंखें दिखाई जा रही हैं, उन हालातों में लोकसभा उपचुनाव लड़ने की उम्मीद कम ही है।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!