चंडीगढ़, जेएनएन। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ किया है कि पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब से लौटने वाले श्रद्धालुओं से पूछताछ करके पुलिस ने कोई गलती नहीं की है। उन्होंने कहा कि अगर इंटेलिजेंस का कोई इनपुट होगा तो किसी भी व्यक्ति को थाने में पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है, बल्कि पूछताछ न करने वाले पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एक तरह से कैप्टन ने डीजीपी दिनकर गुप्ता का फिर बचाव किया है।

कहा- आइबी के इनपुट पर ऐसा करना जरूरी, पूछताछ न करने पर पुलिस पर होगी कार्रवाई

उल्लेखनीय है कि पंजाब विधानसभा में इस बात को लेकर हंगामा हुआ था कि श्रद्धालुओं से पूछताछ क्यों की गई। विपक्ष का कहना था कि डीजीपी द्वारा करतारपुर कॉरिडोर पर दिए बयान के बाद यदि उनके खिलाफ कार्रवाई की गई होती तो श्रद्धालुओं से पूछताछ पुलिस नहीं करती। डीजीपी ने कहा था कि कॉरिडोर के रास्ते पाकिस्तान गया व्यक्ति शाम तक आतंकवादी बन सकता है, छह घंटे में बम बनाना सीख सकता है।

मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह आम आदमी पार्टी के विधायक कुलतार सिंह द्वारा उठाए जा रहे मुद्दे पर बोल रहे थे। कुलतार ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने हाल ही में डीजीपी दिनकर गुप्ता को क्लीन चिट दे दी थी। मुख्यमंत्री अमरिंदर ने कहा कि पंजाब एक सीमावर्ती क्षेत्र है और वह पाकिस्तान के साथ लगता है जहां से अक्सर आतंकी कार्रवाई होती रहती है। ऐसे में गुप्तचर एजेंसियों को यदि किसी पर संदेह है तो वह उससे पूछताछ के लिए पंजाब पुलिस की सहायता ले सकती हैं। कुछ दिन पहले पूछताछ करके पुलिस अधिकारियों ने कोई गलती नहीं की।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

यह भी पढ़ें: Punjab Budget 2020 : 31 हजार करोड़ के कर्ज के ब्याज ने बाधित किया विकास का पहिया

 

 

यह भी पढ़ें: Haryana Budget 2020: एक साल में 75 हजार नौकरियां देने का लक्ष्य

 

यह भी पढ़ें:Haryana Budget 2020 News Update: कोई नया टैक्स नहीं, किसानों को मिली बिजली दरों में बड़ी राहत

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!