जेएनएन, चंडीगढ़, माेहाली। राजस्थान के जोधपुर जेल में बैठकर चंडीगढ़ में राजबीर सिंह उर्फ सोनू शाह (36) हत्याकांड की प्लानिंग बनाने वाले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को पूछताछ के लिए यूटी पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर लाई।भारी पुलिस बल के साथ बिश्नोई काे गुप्त तरीके से माेहाली की अदालत में पेश किया गया। अदालत के बाहर पुलिस का कड़ा पहरा था। फेज अाठ थाने में Arms Act की अलग-अलग धाराओं के तहत वर्ष 2011 में दर्ज मामले के तहत गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को मोहाली की अदालत में पेश किया गया था। बिश्नोई, तरसेम सिंह व नवप्रीत सिंह पर अाराेप तय किए गए हैं। मामले की अगली सुनवाई 18 अक्टूबर काे हाेगी। 

धर्मेंद्र को कोर्ट ने चार दिन के रिमांड पर भेजा 

लॉरेंस के कहने पर सोनू की हत्या की प्लानिंग के अनुसार गुर्गों को बुड़ैल में हथियार, गाड़ी, रूम, खाना-पीना मुहैया कराए गए थे। क्राइम ब्रांच ने मामले में गिरफ्तार धर्मेंद्र द्वारा रिमांड में कई खुलासा करने का दावा किया है। पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार धर्मेंद्र को कोर्ट में पेश कर चार दिनों का रिमांड हासिल किया है। पुलिस ने अपनी दलील में हत्याकांड में इस्तेमाल गाड़ी, हथियार, सहयोग करने वाले मोहाली सेक्टर-80 स्थित किंग पैलेस होटल के संचालक चंदन सहित हत्यारों की गिरफ्तार करने की बात कही है।

बुड़ैल जेल के अंदर संपर्क में आया धर्मेंद्र

अदालत में पेशी के दाैरान तैनात पुलिस बल। 

पंजाब के नयागांव स्थित आदर्श नगर में रहने वाला आरोपित होटल संचालक धर्मेंद्र के पांच आपराधिक केस दर्ज हैं। बुड़ैल जेल में बंद होने के दौरान उसकी मुलाकात लॉरेंस गैंग के काला से हुई और वह गैंगस्टर लॉरेंस के संपर्क में आ गया। जेल से बाहर निकलने के बाद उसकी लॉरेंस और काला से कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत होती थी। धर्मेंद्र मूलरूप से उत्तर प्रदेश के रायबरेली स्थित गांव मेंहदीगंज का रहने वाला है।

पुलिस का दावा है कि आरोपित धर्मेंद्र ने रिमांड में खुलासा किया कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से संपंर्क कर निर्देश दिए थे। जिसके बाद चारों आरोपितों को अपनी आईडी पर मोहाली के किंग पैलेस में संचालक चंदन से बातचीत कर ठहराया था। पांच दिनों तक मोहाली से बुड़ैल आरोपितों ने रेकी करने के बाद वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

ढाबे के कब्जे को लेकर हुअा था टकराव 

हाल ही में जीरकपुर के एक फूड चेन वाले ढाबे के कब्जे को लेकर लॉरेंस बिश्नोई गैंग और सोनू के बीच बहस हुई थी। लॉरेंस के राइट हैंड बताए जाने वाले संपत नेहरा ने सोनू को वाट्सअप कॉल कर कब्जा छोड़ने की धमकी दी। लेकिन, सोनू शाह ने मना कर दिया था। जिसके बाद लॉरेंस के इशारे पर सोनू शाह की हत्या की गई। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vipin Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!