चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब में काेरोना वायरस COVID-19 के बढ़ते मामलों के कारण कर्फ्यू लगा दिया गया है। कर्फ्यू के दौरान मंगलवार को राज्‍य के अधिकतर स्‍थानों पर सन्‍नाटा रहा। लेकिन, कुछ जगहों पर लाेग कर्फ्यू के बावजूद बाज नहीं आए और घरों से बाहर निकलते रहै। इसके बावजूद पुलिस ने सख्‍ती दिखाई। पुलिस ने कहीं डंडे चलाए तो किसी जगह पर सड़कों पर निकले लोगों से कान पकड़वा कर उठक-बैठक करवाई।

बता दें कि पंजाब में अब तक काेरोना वायरस COVID-19 के 30 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और काफी संख्‍या में संदिग्‍ध मरीज सामने आ रहे हैं। पहले पंजाब सरकार ने राज्‍य में Lock down की घोषणा की थी। इसके बावजूद लोग घरों से बाहर आते रहे तो सरकार ने सोमवार को पूरे प्रदेश में कर्फ्यू लगा दिया। प्रदेश में सभी जगहों पर कर्फ्यू को लागू करवाने के लिए पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

मोगा में कर्फ्यू के बावजूद सड़क पर निकलने पर लोगों पर सख्‍ती करती पुलिस।

मंगलवार को भी महत्‍वपूर्ण स्‍थानों पर पुलिस तैनात की गई थी। मंगलवार को प्रदेश के अधिकतर जगहों पर लोग घरों में रहे, लेकिन कई स्‍थानों पर लोग कर्फ्यू के बावजूद बाहर निकले रहे। पहले तो पुलिस ने लोगों काे समझाया, और इसके बाद भी लोग नहीं माने तो फिर उसने सख्‍ती की।

मोगा शहर में कर्फ्यू के बावजूद बाहर निकले एक युवक पर डंडे चलाता पुलिसकर्मी।

मोगा शहर में कर्फ्यू में सख्ती के बावजूद लोग नहीं मान रहे थे। सुबह थोड़ी सी प्रशासन ने अघोषित रूप से ढील दी थी लेकिन यह अवधि बीत जाने के बाद भी लोग फिर सड़कों पर निकल आए। इसके बाद पुलिस भी सख्ती के मूड में आ गई है। पुलिस ने लोगों पर डंडे बरसाए।

इसी तरह, बठिंडा में भी लोग कर्फ्यू के बावजूद सड़कों पर निकलते रहे। पहले तो पुलिसकर्मियों ने ऐसे लोगों का समझाया, इसके बाद भी यह नहीं रुका तो फिर सख्‍ती शुरू हो गई। पुलिस ने शहर में कई स्‍थानों पर बाहर निकले लोगों से कान पकड़वाकर उठक-बैठक करवाई। इसके साथ ही उनको कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी।

बठिंडा में कर्फ्यू का उल्‍लंघन करने वाले युवकों से कान पकड़वाकर उठक-बैठक करवाता पुलिसकर्मी।

कपूरथला में भी कर्फ्यू का उल्लंघन करने के मामले सामने आए। यहां कर्फ्यू के उल्‍लंघन के आरोप में तीन लाेगों के खिलाफ केस दर्जृ किए गए। एक मामला सुल्तानपुर लोधी और दो केस कपूरथला के कोतवाली थाना में दर्ज केए गए हैं। पठानकोट में भी लोगों को बाहर निकलने से रोका गया। शहर में कई जगहों पर लोग बाहर दिखे। पुलिस ने उनको चेतावनी देते हुए अपने घरों में भेजा।

अबोहर में कर्फ्यू का उल्‍लंघन करनेवालों से उठक-बैठक करवाती पुलिस।

अबोहर में भी कर्फ्यू के उल्‍लंघन के मामले सामने आए। कुछ क्षेत्रों में लोग कर्फ्यू के बावजूद सडकों पर दिखे। पुलिस ने शुरू में ऐसे लोगों को समझाया, लेकिन इसका असर नहीं हुआ तो फिर सख्‍ती की गई। ऐसे लोगों को पकड़कर पुलिसकर्मियों व अधिकारियों ने सड़क पर ही उठक-बैठक करवाई।

इस बीच श्री मुक्‍तसर साहिब, हाेशियारपुर, फाजिल्‍का में भी कर्फ्यू के कारण बाजार और सड़कें सुनसान हैं। रेलवे स्‍टेशन और बस अड्डे वीरान हैं। जालंधर और लुधियाना में भी कर्फ्यू के कारण सन्‍नाटे का आलम हैा

अमृतसर में कर्फ्यू के बावजूद कुछ क्षेत्रों में सड़कों पर दिखे लोग।

अमृतसर में कर्फ्यू के दाैरान सड़के सूनी दिख रही हैं। वैसे शहर के कई क्षेत्रों में आवाजाही दिखीl लोग जरूरत का सामान लेने के लिए घरों से बाहर निकलेl हसके बाद पुलिस ने कर्फ्यू के उल्‍लंघन पर सख्‍त रुख दिखाया। रूपनगर में कोरोना वायरस के मद्देनजर कर्फ्यू के दौरान लोग घरों में कैद रहे। कर्फ्यू दौरान गुरदासपुर में सन्नाटा छाया रहा। सड़के और बाजार वीरान नजर आए। पटियाला में भी कर्फ्यू के कारण सन्‍नाटा है। शहर के प्रमुख स्‍थान सुनसान नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: Corona से जंग में अच्‍छी खबर, COVID-19 वायरस को खत्‍म करेगी CSIO की खास मशीन

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



यह भी पढ़ें: Haryana Lock down: दिहाड़ीदार, मजदूर व रेहड़ी फड़ी वालों को मिलेंगे 4500 रुपये मासि‍क

यह भी पढ़ें: शताब्दी एक्‍सप्रेस में Corona मरीज संग सफर करने वाले 39 यात्री क्‍वारंटाइन, दाे नहीं मिले


 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!