चंडीगढ़, [विशाल पाठक]। चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर दो अक्टूबर से किसी भी प्रकार से प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। यहां तक कि फूड पैकिंग से लेकर प्लास्टिक की पानी की बोतल तक बंद कर दी जाएगी। इसको लेकर अंबाला डिवीजन ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। अंबाला डिवीजन के सीनियर अधिकारियों की मानें तो दो अक्टूबर को राष्ट्रीय स्तर पर प्लास्टिक पर पूरी तरह बैन लगाया जा रहा है। इसी दिशा में चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर भी 2 अक्टूबर से ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को प्लास्टिक की पैकिंग में मिलने वाले खाने और पानी की बोतल की सर्विस को बंद किया जाएगा।

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर वेस्ट प्लास्टिक बोतल को नष्ट करने के लिए बॉटल क्रशिंग मशीन लगाई गई है। अंबाला डिवीजन की ओर से रेलवे स्टेशन पर दो नई मशीनें लगाई गई हैं। एक मशीन चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के एंट्रेंस पर और दूसरी पंचकूला की साइड से रेलवे स्टेशन पर एंट्रेंस पर लगाई गई हैं। जल्द ही एक और नई क्रशिंग मशीन लगाई जाएगी अंबाला डिवीजन के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एक मशीन चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर बने एक्सीलरेटर की साइड लगाई जाएगी। एक बोतल क्रशिंग मशीन पर करीब 10 लाख रुपये का खर्चा है। चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन की ओर से इस मशीन की अप्रूवल के लिए अंबाला डिवीजन को फाइल भेज दी गई है।

चंडीगढ़ से चलने वाली ट्रेन में बैन होगा प्लास्टिक

उच्च अधिकारियों की मानें तो चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार वह अन्य राज्यों को जाने वाली लॉन्ग रूट की सभी ट्रेनों में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है। इसको लेकर अंबाला डिवीजन की ओर से चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के डायरेक्टर को लिखित में आदेश दिए गए हैं। चंडीगढ़ से चलने वाली सभी ट्रेनों में प्लास्टिक पर 2 अक्टूबर से पाबंदी लगाने के लिए एक मॉनिटरिंग टीम भी बनाई गई है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!