आनलाइन डेस्क, चंडीगगढ़। पंचकूला नगर निगम ने शहर में खूंखार नस्ल के कुत्ते (Pet Dogs) पालने पर रोक लगा दी है। यह फैसला वीरवार को हुई नगर निगम की सदन की बैठक में लिया गया है। निगम ने कुत्तों की रोटविलर और पिटबुल प्रजाति के डाग्स को घर पर रखने पर रोक लगाई है। अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता है तो उसपर 5000 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। अगर कोई जुर्माना नहीं भरता तो उसे सजा भी हो सकती है। 

तो आइए जानते हैं कि पंचकूला में रोटविलर और पिटबुल प्रजाति के कुत्तों को पालने पर जो रोक लगी है वह कुत्ते कितने खतरनाक हैं। नगर निगम की तरफ से भी इस बात का हवाला दिया गया है कि रोटविलर और पिटबुल नस्ल के कुत्ते इंसानों के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। क्योंकि ये दोनों ही प्रजाति के कुत्ते बहुत खूंखार हैं। 

राटविलर का गुस्सा सबसे खतरनाक

राटविलर अपने गुस्से के लिए काफी बदनाम है। इसके चलते यूरोप और अमेरिका के कई हिस्सों में रोटविलर को घर पर पालना बैन है, हालांकि भारत में इस ब्रीड को पालने को लेकर किसी तरह का कोई बैन नहीं है। जानवरों के लिए काम करने वाली संस्था एनिमल पीपुल की एक रिसर्च के मुताबिक पिटबुल दुनिया की सबसे खतरनाक डाग ब्रीड है। रोटविलर दूसरे नंबर पर है। एक वेटनरी डाक्टर बताते हैं कि रोटविलर जब गुस्से में हो तो किसी पर भी हमला कर सकता है फिर चाहे उसके आगे इंसान हो या जानवर वह किसी पर भी हमला कर सकता है। प्रापर ट्रेनिंग नहीं देने से वे काटने और इंसान या अन्य जीव को मार देने तक की घटनाओं को अंजाम देता हैं। 

दुनिया के सबसे खतरनाक कुत्तों में से एक है पिटबुल 

दुनिया के सबसे खतरनाक कुत्तों में पिटबुल शामिल है। पिटबुल नस्ल के कुत्ते अपने आक्रामक रवैये के लिए जाने जाते हैं। यह बहुत खतरनाक होते हैं। दुनिया के करीब 41 देशों में इस कुत्ते को पालने पर बैन है। माना जाता है कि पिटबुल का हमला सबसे ज्यादा खतरनाक होता है। पिटबुल अन्य कुत्तों की तरह ही अनियंत्रित होते हैं, उन्हें गुस्सा आता है और वे दूसरों का काटते हैं, लेकिन अन्य कुत्ते इतने खतरनाक घाव नहीं देते जितने इनकी वजह से घाव आते हैं इसलिए पिटबुल ज्यादा बदनाम हैं।

क्या कहते हैं वकील

एडवोकेट उदित महेंदीरत्ता के मुताबिक, इंसान को चोट पहुंचाने की आशंका से बचाने के लिए कुत्ते के मालिक को सुरक्षा ख्याल रखना होता है। अगर वह ऐसा नहीं करता है, तो दोषी पाए जाने पर छह महीने तक की जेल हो सकती है।

Edited By: Ankesh Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट