जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। पीजीआइ चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) ने एक और नई पहल करते हुए ई-ऑफिस की शुरुआत की है। ई-ऑफिस का उद्घाटन मंगलवार को किया गया। पीजीआइ डायरेक्टर प्रो. जगत राम ने इस नए मॉडयूल का उद्घाटन किया। प्रो. जगत राम ने कहा कि गवर्नेंस प्रोसेस में हार्ड कॉपी की फाइल, रिसिप्ट, नोटिंग होती है। इसमें काफी समय लगता है। पीजीआइ जैसे बड़े संस्थान में जल्द निर्णय ले पाने से पेशेंट केयर और लोगों से जुड़ी सेवाओं में सुधार होगा। कार्यक्षमता बढ़ेगी। ई-ऑफिस से कार्य क्षमता बढ़ेगी और सिस्टम में ट्रांसपेरेंसी आएगी।

कंप्यूटर सेक्शन ने डिप्टी डायरेक्टर एडमिनिस्ट्रेशन कुमार गौरव धवन के मार्गदर्शन में इसे डेवलप कराया है। धवन ने इस मौके पर कहा कि यह नया सिस्टम कार्यक्षमता, ट्रांसपेरेंसी और प्रभाव बढ़ाने वाला होगा। माउस के एक क्लिक पर फाइलों का डिस्पोजल हो सकेगा। बेवजह फाइल को कोई भी दबाकर नहीं रख सकेगा। हर किसी की जवाबदेही तय होगी। पीजीआइ देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक है। इसका कैंपस बड़े एरिया में फैला है। कई टेस्ट ऐसे होते हैं जो दूसरी बिल्डिंग में जाकर कराने होते हैं। रिपोर्ट लेने भी दूसरी जगह जाना होता है। तीमारदार को इसमें काफी परेशानी होती है।

ई-ऑफिस सुविधा की शुरुआत होने के बाद अब कहीं भी मेनुअल फाइल के लिए नहीं घूमना पड़ेगा। रिपोर्ट समय पर मिलेगी ऑनलाइन ही यह उपलब्ध होगी। इससे इलाज में सहूलियत होगी। रिपोर्ट जल्द मिल जाएगी। डॉक्टरों को निर्णय लेने में फायदा मिलेगा। चंडीगढ़ प्रशासन के कई डिपार्टमेंट ई-ऑफिस की शुरुआत कर चुके हैं। इसके काफी अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। हाल ही में डीसी ऑफिस और चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने इसकी शुरुआत की है। यहां अब मेनुअल फाइलों को ले जाने की जरूरत नहीं रहती।

Edited By: Ankesh Thakur