चंडीगढ़ [वेब डेस्क]। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आतंकवाद पर पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए उस पर सीधा वार किया। राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान में आतंक की फैक्ट्री है। अगर वह आतंकवाद की फैक्ट्री को बंद कर देता है तो भारत आतंक के खिलाफ पाकिस्तान की पूरी मदद करेगा।

गृहमंत्री ने आगे कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा सबसे बड़ा मुद्दा है। इसको लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत से छह देशों की लगभग 15 हजार किलोमीटर की सीमाएं लगती हैं। नेपाल व भूटान की सीमा पर शांति है, जबकि बांगला देश, म्यांमार सीमा पर जाली नोटों व ड्रग तस्करी बड़ी चुनौती है। इस सबके बावजूद भारत के इन देशों से मजबूत संबंध हैं।

राजनाथ ने कहा कि चीन से संबंध कुछ विवाद हैं। वहीं, पाकिस्तान एेसा देश है जो स्वतंत्रता सेनानियों व आतंकियों में अंतर भूल चुका है। गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने चार माह पूर्व सीमा प्रबंधन के लिए कमेटी बनाई थी। उसने अपना काम पूरा कर लिया है। दो साल में पाकिस्तान बार्डर पूरी तरह सील कर दिया जाएगा। राजनाथ सिंह होटल माउंट व्यू सेक्टर-10 में रीजनल एडिटर्स कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व एयरपोर्ट पर चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी बदनौर ने राजनाथ सिंह की अगुवाई की।

राजनाथ ने कहा कि जम्मू, पंजाब व गुजरात से लगती पाक सीमा पर पूरी तरह से नाकाबंदी है। भारत चाहता है कि पूरे क्षेत्र में शांति रहे। राजनाथ ने एक बार फिर दोहराया कि हमारी सेना सर्जिकल स्ट्राइक के लिए थी। सेना पाक पर अटैक करने नहीं गई थी, बल्कि आतंकियों को खत्म करने गई थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकियों की फैक्टरी बंद होनी चाहिए। अगर पाकिस्तान भी आतंकियों को खत्म करना चाहता है तो भारत मदद करने को तैयार है।

पढ़ें : भड़के गिरीराज बोले- एक भी सीट मत जिताना, जिसकी सरकार बने उसी से काम कराना

गृहमंत्री ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राल के बाद सीमा से सटे गांवों को खाली करने का निर्देश गृह मंत्रालय ने ही दिया था। केंद्र सरकार को आशंका थी कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान क्षेत्र में गड़बड़ी फैला सकता है। शांति व लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर केंद्र सरकार ने यह कदम उठाया था।

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान न दूसरों का भला कर सकता है न अपना ही भला कर सकता है। पाकिस्तान का रवैया आतंकवाद के प्रति बहुत लचीला है , लेकिन जो सांप को पालता है वो एक दिन उसको ज़रूर काटता है। राजनाथ ने कहा कि भारत को पाकिस्तान की आम जनता से घृणा नहीं है। हमें पाकिस्तान की आतंकवाद को प्रायोजित करने वाली नीति से परेशानी है।

गृह मंत्री ने कहा कि 26/11 के बाद नेशनल सिक्योरिटी सिस्टम में काफी बदलाव लाया गया है। कास्टल एरिया की सुरक्षा को लेकर असरदार कदम उठाए। साइबर टेरेरिज्म पर भी सरकार काम कर रही है। आने वाले दिनों में भारत का सुरक्षा तंत्र बहुत मजबूत होगा। इसमें शक नहीं की सीमा पर नशीले पदार्थो की तस्करी हो रही है पर भारी मात्रा में सीज़ भी की गई है। पाक से लगे पंजाब के हिस्से में सुरक्षा बढ़ाने की जरूरत है। हम पाक को अच्छी तरह से समझ चुके हैं। स्लीपर सेल्स पर पूरी नज़र है।

देखें तस्वीरें : चंडीगढ़ में संपादकों से रू-ब-रू हुए राजनाथ

Edited By: Kamlesh Bhatt

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!