जागरण संवाददाता, डेराबस्सी/मोहाली: बीते कल वीरवार को चंडीगढ़, मोहाली, पंचकूला सहित पंजाब भर में जोरदार बारिश हुई। लोगों ने एक ओर इस बारिश का मजा लिया वहीं, किसानों के लिए यह बारिश मजे सेे ज्यादा सजा साबित हुई। मोहाली जिले में पिछले कई दिन से रुक-रुक हो रही बारिश और बीते वीरवार को लगातार हुई बरसात ने किसानों को भारी नुकसान पहुंचाया है। क्योंकि किसानों की खेतों में कटाई के लिए तैयार धान की पकी फ़सल को बारिश कारण धराशायी हो गई। कर्जे की मार झेल रहे किसानों के लिए आफत बनकर आई इस बारिश ने धान के साथ-साथ आलू की लगाई फसल भी पूरी तरह बर्बाद कर दिया। हालांकि अभी भी मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है, जिससे किसानों को फसलों को नुकसान का डर सता रहा है। 

बारिश कारण नीचले इलाकों में खड़ी धान की पकी फसल में पानी भर जाने कारण फसल का काफ़ी नुकसान हुआ है। अब जहां कटाई के समय बहुत मुश्किल पेश आएगी उपर से नुकसान भी काफी ज़्यादा होगा।

मोहाली जिले के डेराबस्सी, लालडू, खरड़, कुराली के किसानों ने प्रशासन से बरसात के कारण फसलों के हुए नुकसान का मुआवजा देने की मांग की है। किसानों ने कहा कि अगर आने वाले दिनों में बरसात इसी तरह होती रही तो जो थोड़ी बहुत फसल बची है वे भी बर्बाद हो जाएगी। किसान लखविंदर सिंह, सुच्चा सिंह, नरेश कुमार ने बताया कि धान की फसल पक चुकी है लेकिन बरसात के कारण फसल खराब हो गई है। इसलिए प्रशासन किसानों को मुआवजा देने के लिए उचित कदम उठाए।

उधर डेराबस्सी, कुराली, लालडू शहर में निकासी प्रबंध फेल होने के कारण मेन बाज़ार व रामलीला ग्राउंड नज़दीक मार्केट ने नदी का रूप धारण कर लिया। कई दुकानों का सामान पानी की चपेट में आ गया। निवासियों ने रोष प्रकट करते काउंसिल आधिकारियों समेत पार्षदों को समस्या का हल करने की गुहार लगाई है। इसके अलावा मुबारकपुर, बाकरपुर, जनेतपुर अंडरपाथ में भारी भर जाने कारण राहगीरों को भारी मुश्किल पेश आई।

Edited By: Ankesh Thakur